GWALIOR NEWS- ठाकुर और महाराज के बीच तनाव शुरू, महापौर का टिकट अटका

भोपाल
। जैसी की उम्मीद थी, ग्वालियर में केंद्रीय मंत्रियों के बीच टकराव की स्थिति बनती जा रही है। नगर निगम चुनाव में महापौर के टिकट के लिए नरेंद्र सिंह तोमर और ज्योतिरादित्य सिंधिया आमने सामने हैं। इसके चलते बीजेपी कोर ग्रुप की मीटिंग में कोई डिसीजन नहीं हो पाया। कहा जा रहा है कि महापौर का टिकट यह स्पष्ट कर देगा कि ग्वालियर में किस का सिक्का चलेगा।

सिंधिया ग्वालियर तो तोमर भोपाल पहुंचे 

ग्वालियर में डॉ. वीरा लोहिया, सुमन शर्मा, माया सिंह और समीक्षा गुप्ता के नाम प्रस्तावित किए गए हैं। राह में किसी तरह का रोड़ा ना आए इसलिए ज्योतिरादित्य सिंधिया कोर ग्रुप की बैठक के पहले ही ग्वालियर पहुंच गए थे। सूत्रों का कहना है कि सिंधिया चाहते थे कि वाले से केवल एक नाम जाए परंतु ऐसा नहीं हो सका। भोपाल में कोर ग्रुप की बैठक में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर स्वयं उपस्थित थे। मीटिंग में ग्वालियर के टिकट को लेकर क्या-क्या हुआ होगा, ग्वालियर चंबल के लोग अच्छी तरह से जानते हैं। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया, मुंबई से लौटकर भोपाल आए 

जब शनिवार को कोर ग्रुप की मीटिंग में ग्वालियर का डिसीजन नहीं हो पाया तो ज्योतिरादित्य सिंधिया मुंबई से लौटकर भोपाल आए आ गए। आज सुबह सीएम शिवराज सिंह चौहान से मिलने पहुंच गए। दोनों के बीच सुबह की चाय पर चर्चा हुई है। संगठन के सूत्रों का कहना है कि सभी लोग ज्योतिरादित्य सिंधिया और नरेंद्र सिंह तोमर के बीच सहमति बनाने का प्रयास कर रहे हैं।

अचानक भोपाल आए सिंधिया, तोमर मीटिंग छोड़ कर चले गए

शनिवार शाम 7 बजे से रात 11 बजे तक बीजेपी कोर ग्रुप की बैठक चली। इस बैठक में केन्द्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया वर्चुअल जुडे़ थे लेकिन ग्वालियर में महापौर के प्रत्याशी को लेकर सहमति नहीं बन पाई। मीटिंग खत्म नहीं हो पाई इससे पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया मुंबई से फ्लाईट से रात करीब 10:38 पर सिंधिया बीजेपी ऑफिस पहुंचे। यहां उनके पहुंचने के करीब चार-पांच मिनट में ही बैठक से केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर निकलकर रवाना हो गए।