मध्यप्रदेश में और तेज होंगी लोकायुक्त की छापामार कार्रवाई, मकवाना DG नियुक्त- MP NEWS

भोपाल
। 2 दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कर्मचारियों से अपील की थी कि लोगों की दुआएं कमाए। आज मध्य प्रदेश शासन के गृह विभाग मंत्रालय ने 1988 बैच के भारतीय पुलिस सेवा के वरिष्ठ अधिकारी कैलाश मकवाना को DG लोकायुक्त नवीन पदस्थापना का आदेश जारी कर दिया। 

बताया जा रहा है कि कैलाश मकवाना आईपीएस, मध्यप्रदेश के ऐसे अफसरों में शामिल हैं जो रिश्वत को केवल अपराध ही नहीं बल्कि आप भी मानते हैं। कुछ दिनों पहले उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा था कि, रिश्वत अकेले नहीं आती। देने वाली की बद्दुआ, मजबूरियां, दुख, वेदना, क्रोध, तनाव, चिंता भी नोटों में लिपटी रहती है।' 

कहा जा रहा है कि कैलाश मकवाना आईपीएस की पदस्थापना के बाद, विशेष पुलिस स्थापना लोकायुक्त संगठन में बड़े बदलाव दिखाई देंगे। कार्रवाई में तेजी आएगी और केवल मामले दर्ज नहीं होंगे बल्कि न्यायालयों में फैसले के लिए भी सक्रियता नजर आएगी। एक बड़ा मुद्दा लंबे समय से चला आ रहा है। मध्यप्रदेश में रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर्मचारी को जेल क्यों नहीं भेजा जाता। उम्मीद है यह ऐतिहासिक परिवर्तन भी होगा।

कैलाश मकवाना आईपीएस संगीत का भी शौक रखते हैं 

कैलाश मकवाना कोई सिंघम टाइप आईपीएस ऑफिसर नहीं है बल्कि एक सरल और पारिवारिक व्यक्ति है। संगीत का शौक रखते हैं। आवाज भी अच्छी है और मौका मिल जाए तो परफॉर्म भी करते हैं। कभी-कभी तो फ्रेंड्स एंड फैमिली को बिठाकर भी गला साफ कर लेते हैं। किशोर कुमार के गाने सुनाना पसंद करते हैं। कैलाश मकवाना उज्जैन के रहने वाले हैं। अविभाजित मध्यप्रदेश के बस्तर, दंतेवाड़ा, मुरैना और बेतूल जैसे जिलों में एसपी के पद पर सफलतापूर्वक अपना कार्यकाल पूरा कर चुके हैं। इनके पिता डिप्टी कलेक्टर के पद से रिटायर हुए।