सागर पब्लिक स्कूल रोहित नगर की मान्यता खत्म करने की सिफारिश, क्योंकि शिक्षक को वेतन नहीं दिया था- BHOPAL NEWS

Sagar Public School Rohit Nagar, Bhopal एक प्रतिष्ठित स्कूल है। हजारों लोग विश्वास करते हैं कि इस स्कूल में बच्चों को अच्छा नागरिक बनाया जाता है लेकिन शिक्षा विभाग ने इस स्कूल की मान्यता खत्म करने की सिफारिश कर दी। आरोप है कि इस स्कूल के संचालक, अच्छे स्कूल संचालक नहीं है। नियम और शासकीय आदेशों का पालन नहीं करते।

जानकारी के मुताबिक सागर पब्लिक स्कूल रोहित नगर में बीते 11 वर्ष से उत्कृष्ट परिणाम देने वाले शिक्षक नीतिश विश्वास भौतिकी के व्याख्याता थे। बीते 1 फरवरी 2022 को उन्हें बिना किसी कारण के टर्मिनेट कर दिया और उनका वेतन भी नहीं दिया। स्कूल टीचर नीतिश विश्वास ने इस मामले की शिकायत स्कूल शिक्षा विभाग में की। मामले की शिकायत सीएम हेल्पलाइन में भी की गई। 

प्रकरण में बताया गया कि शिकायत के बाद चेयरमैन सुधीर कुमार अग्रवाल एवं स्कूल मैनेजमेंट द्वारा धमकी दी कि शिकायत वापिस ले लो। शिकायत वापस लेने पर सिर्फ पिछला वेतन दिया जाएगा। अन्य भत्ते नहीं दिए जाएंगे। शिकायत सही पाए जाने पर संभागीय संयुक्त संचालक स्कूल शिक्षा राजीव तोमर ने मान्यता नियमों के अधीन स्कूल प्रबंधन को नोटिस जारी किया। 

नोटिस के बाद स्कूल प्रतिनिधि के रूप में मैनेजर उत्कर्ष भावसार उपस्थित हुए। भावसार ने कहा कि विश्वास का शिक्षा काल के दौरान शैक्षणिक कार्य संस्थान के अनुकूल नहीं था। अपने सहकर्मियों के साथ उनका व्यवहार असंतोषजनक था, इसलिए संस्था प्रबंधन द्वारा सेवा भर्ती नियम अनुसार एक माह का नोटिस दिया गया है। 

जेडी राजीव तोमर ने स्कूल प्रबंधन को 12 मई तक वेतन भुगतान करने का अंतिम अवसर दिया। अंतिम अवसर देने के बाद भी स्कूल प्रबंधन ने वेतन नहीं दिया। जिसे लेकर जेडी ने मान्यता निरस्त करने की सिफारिश जारी कर दी।

सागर पब्लिक स्कूल मालिक एवं मैनेजमेंट कौन है 

सागर पब्लिक स्कूल रोहित नगर की ऑफिशल वेबसाइट spsrn.ac.in पर आज दिनांक 21 मई 2022 को बताया गया है कि सागर पब्लिक स्कूल का संचालन किन के द्वारा किया जाता है।
Sudhir Kumar Agrawal, CHAIRMAN 
Siddharth Sudhir Agrawal, MANAGING DIRECTOR 
Kamal Kishore Dubey, DIRECTOR HRD 
Madhubala Chauhan, PRINCIPAL 
दावा किया गया है कि भोपाल में सागर पब्लिक स्कूलों में 11,000 विद्यार्थियों को अच्छा नागरिक बनाने के लिए पढ़ाया जाता है।