मध्य प्रदेश में मानसून कब आएगा, पढ़िए मौसम विज्ञानी डॉ ममता का पूर्वानुमान

Madhya Pradesh weather, monsoon forecast

भोपाल। अंडमान और निकोबार दीप समूह में मानसून के बादल छा चुके हैं। अनुमान लगाया जा रहा है कि मध्य प्रदेश में मानसून निर्धारित से 4 दिन पहले आ जाएगा परंतु मौसम विज्ञानी डॉ ममता यादव का मानना है कि मध्य प्रदेश में मानसून के बादल 3 दिन देरी से आ सकते हैं। 

वरिष्ठ मौसम विज्ञानी डा ममता यादव ने बताया कि बुधवार को दक्षिणी पश्चिमी मानसून ने पूरे अंडमान और निकोबार द्वीप समूह को कवर कर लिया और वह बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है, जो अच्छी खबर है। अनुमान है कि 29 मई से एक जून तक यह केरल पहुंच जाएगा और धीरे-धीरे सभी राज्यों में मानसून पहुंच जाएगा। खासतौर पर मध्य प्रदेश की बात करें, तो यहां 15 से 18 जून के आसपास पहुंचेगा।

मध्य प्रदेश मौसम- 22 मई तक कई इलाकों में बारिश, प्री मानसून 28 से

भारत मौसम विज्ञान विभाग के भोपाल केंद्र के अनुसार बुधवार 18 मई से 22 मई तक बादल छाने से कहीं-कहीं बारिश हो सकती है। 22 मई से प्रदेश के कुछ इलाकों भोपाल, नर्मदापुरम, उज्जैन और इंदौर में हल्की बारिश के आसार है। 28 मई के बाद प्री मानसून की गतिविधियां बढ़ने लगेंगी। इस बार मानसून भोपाल, इंदौर, नर्मदापुरम और उज्जैन संभागों में ज्यादा मेहरबान रहेगा। जबलपुर और सागर संभाग में यह सामान्य रहेगा। भोपाल में 15, इंदौर-उज्जैन में 20 जून के बाद मानसून दस्तक देगा।