ऐतिहासिक जहांगीर महल से कूदने महिला यूपी से ओरछा आई, 3 घंटे चला हाई वोल्टेज ड्रामा- MP NEWS

ओरछा।
 पति की मौत से आहत पत्नी खुदकुशी करने के लिए मऊरानीपुर से मध्य प्रदेश के निवाड़ी ज़िले में स्थित ओरछा पहुंची और 150 फीट ऊंचे जहांगीर महल से कूद गई। परंतु शायद उसकी मौत अभी नहीं इसलिए 10 फीट नीचे महल के छज्जे पर गिरी। पर्यटकों ने महिला को आवाज लगाई तो वह महल से कूदने की धमकी देने लगी। करीब तीन घंटे तक चर्चा और समझाइश के दौर के बाद महिला का रेस्क्यू किया गया।

दरअसल निवाड़ी की नीलम ने उप्र के झांसी जिले के मऊरानीपुर के अमित अहिरवार से लव मैरिज की थी। अमित मऊरानीपुर का बहुत अच्छा फोटोग्राफर था। इनकी शादी को अभी एक ही साल हुआ था कि 4 दिन पूर्व मऊरानीपुर हाईवे पर सड़क दुर्घटना में अमित गंभीर रूप से घायल हो गया। झांसी के अस्पताल में इलाज के दौरान शुक्रवार को उसकी मौत हो गई। इसके बाद महिला झांसी से दोपहर करीब डेढ़ बजे ओरछा आ गई। यहां के जहांगीर महल पर खुदकुशी के इरादे से चढ़ गई।

महत की छत पर बैठी नीलम पति को याद करते हुए रोती रही। नीलम ने अपने जेवर नीचे फेंक दिए। वह कह रही थी कि एक साल पहले ही हमारी शादी हुई थी। अब मेरे पति ही नहीं रहे तो मैं जीकर क्या करूंगी। इसलिए मैं यहां मरने के लिए आई हूं। मुझे नहीं जीना, मेरे पास आए तो मैं कूदकर जान दे दूंगी। महिला ने बताया कि वह बेतवा नदी में कूदने का सोच रही थी, लेकिन ऐसे में लोगों को खुदकुशी का पता नहीं चलता। करीब तीन घंटे चले इस हाईवोल्टेज घटनाक्रम के बाद महिला का रेस्क्यू कर लिया। उसे मेडिकल कॉलेज झांसी रेफर किया है। महल से कूदने के कारण नीलम के हाथ-पैर और कमर पर गंभीर चोंटे आई है। 

पर्यटकों की सूचना पर पुलिस और महिला के परिजन मौके पर पहुंच गए हैं। सूचना मिलने के बाद महिला के पिता और बहन भी मौके पर पहुंचे। पुरातत्व विभाग के अफसर, तहसीलदार, पुलिसकर्मी व पर्यटकों के साथ उन्हाेंने भी महिला को समझाया। मौके पर ओरछा थाना प्रभारी अभय प्रताप सिंह अपनी टीम के साथ संसाधनों को जुटाने में लग गए।एंबुलेंस और डॉक्टर की टीम भी पहुंची। करीब तीन घंटे की मशक्कत के बाद महिला को उतारा गया। इसे देखने के लिए बड़ी संख्या में लोग महल क्षेत्र में पहुंच गए हैं।

तहसीलदार संदीप शर्मा जाल, रस्सा व डॉक्टरों की टीम को भी महल लेकर आ गए। आरेछा के पुलिसकर्मियों ने बातचीत करते हुए महिला को कोल्डड्रिंक पिलाई। उसकी छोटी बहन भी लगातार चर्चा करती रही। जब वह कनवेंस हो गई तो ओरछा पुलिस के जवान रस्से के सहारे ऊपरी मंजिल से महिला के पास पहुंचे। उन्होंने सबसे पहले बहन को नीलम के पास पहुंचाया जब वह शांत हो गई तो पुलिसकर्मियों ने महिला को सुरक्षित उतार लिया।​​​​  मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP NEWS पर क्लिक करें.