मध्य प्रदेश चुनाव में भाजपा के टिकट कैसे मिलेंगे, मुरलीधर राव ने बताया - MP NEWS

भोपाल।
बैनर-पोस्टरों व फ्लैक्सों में ब़डे-ब़डे फोटो लगाने, ब़डी-ब़डी मालाएं पहनाने व परिक्रमा करने से टिकट नहीं मिलेगा। कोई यह न समझे कि परिक्रमा व ब़डे फोटो टिकट दिलवा देंगे। यह सब विधानसभा टिकट का आधार नहीं हो सकता। टिकट के लिए जनता के बीच में रहना जरूरी है। उनके काम करवाना जरूरी है। जनता के बीच से आवाज आने पर व जनता की कसौटी पर खरा उतरना टिकट का आधार हो सकता है। यह दो टूक बात बात भाजपा के प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ने राजगढ़ जिला कार्यालय में जिला पदाधिकारियों व पार्टी के जिले के वरिष्ठ नेताओं की बैठक के दौरान कही।

हरेक पदाधिकारी की परफार्मेंस संगठन लगातार देख रहा है: भाजपा प्रदेश प्रभारी

उल्लेखनीय है कि प्रदेश प्रभारी श्री राव एक दिवसीय दौरे के तहत राजग़ढ पहुंचे थे। जहां उन्होंने जिला कार्यालय में बैठक ली। जिसमें पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं को नसीहत देते हुए कहा कि पार्टी व संगठन को मजबूत करना है। इसके लिए सतत व लगातार काम करने की जरूरत है। हरेक कार्यकर्ता व पदाधिकारी की परफार्मेंस को संगठन लगातार देख रहा है। कौन काम कर रहा है, कौन नहीं कर रहा, कौन लगातार चल रहा है इस सबको पार्टी में नोट किया जा रहा है। आगे कहा कि आप किसी को कितनी ही ब़डी-ब़डी मालाएं पहना दो, बैनरों में ब़डे फोटो लगा दो, नेताओं की परिक्रमा करो इससे टिकट मिलने वाला नहीं है। टिकट के लिए कामकाज, लगातार मेहनत व जनता के बीच उपिस्थति के साथ जनता में पक़ड को महत्वपूर्ण माना जाएगा। 

2023 के विधानसभा चुनाव में राजगढ़ से भाजपा को 2 सीट भी नहीं मिलेंगी

बैठक के दौरान कुछ पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने प्रदेश प्रभारी श्री राव से कहा कि विधानसभा क्षेत्र की पांचों सीटें जीतने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं, मंथन किया जा रहा है, लेकिन यही हाल रहे तो अब दो सीटें जीतना भी मुश्किल होगा। कार्यकर्ताओं ने कहा कि जिले में नेताओं के बीच समन्वय का अभाव है। समन्वय की कमी है। कुल मिलाकर कुछ पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने इशारों ही इशारों में अपना दर्द बयां कर दिया।

लिखकर भेजो, दो माह में रिजल्ट लो: मध्य प्रदेश भाजपा प्रदेश प्रभारी ने कहा

बैठक के दौरान प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव ने कहा कि जो लोग बैठक में बोलने से व अपनी बात रखने से कतरा रहे हैं, लेकिन बात पहुंचना भी चाहते हैं। ऐसे लोग लिखकर दे दें या फिर लिखकर भिजवा दे। जो शिकायत होगी उसको परखा जाएगा और शिकायतें सही पाई गई तो समय नहीं लगेगा, दो माह के अंदर परिणाम आपके सामने होगा। आगे कहा कि पार्टी को मजबूत करने के लिए काम करे। जो काम नहीं करेगा उसके बारे में विचार किया जाएगा। ऐसा कोई पदाधिकारी नहीं जिसको लेकर विचार नहीं किया जा सकता।

यह न समझना की चुनाव के पहले मैं चला जाउंगा

जिला बैठक को संबोधित करते हुए परिक्रमा व फोटो को लेकर नसीहत देने के बाद वह यह भी साफ कर गए कि चुनाव तक वह कहीं जाने वाले नहीं है। उन्होंने कहा कि जो बताया है वही टिकट का आधार हो सकता है। और कोई न यह न समझें, यह मानकर नहीं चले कि चुनाव तक मुरलीधर राव चले जाएंगे। मैं कहीं जाने वाला नहीं हूंं, चुनाव तक मैं मप्र में ही रहुंगा। चुनाव कराने के बाद ही जाउंगा। मध्य प्रदेश की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP NEWS पर क्लिक करें.