GWALIOR NEWS- सहायक शिक्षक परमार का JU में जलवा कायम, दोनों कॉलेजों को क्लीन चिट

ग्वालियर
। 30 कॉलेजों के मालिक सहायक शिक्षक प्रशांत परमार के खिलाफ भले ही आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज हुआ हो, EOW ने कागजों में फर्जी कॉलेज के संचालन का दावा किया हो परंतु जीवाजी विश्वविद्यालय में प्रशांत परमार का जलवा कायम है। यूनिवर्सिटी से संबंधित तमाम कॉलेजों में केवल 2 कॉलेजों के स्थान परिवर्तन हुए हैं। दोनों प्रशांत परमार के हैं। 

कराहल एजुकेशन कालेज कराहल श्योपुर, आइडियल बीएड कालेज बरुआ ग्वालियर, दोनों कॉलेजों की फाइलों को आखरी तक दबाकर रखा। चर्चा में नहीं आने दिया। निरीक्षण की लिस्ट में शामिल नहीं किया और लास्ट में निरीक्षण हो गया, तमाम प्रक्रियाएं पूरी हो गई और स्थान परिवर्तन के आवेदन पर मंजूरी भी दे दी गई। अब कराहल एजुकेशन कालेज ग्वालियर में संचालित होगा और आइडियल बीएड कालेज भिंड के मेहगांव से संचालित किया जाएगा। 

Eow के DSP सतीश चतुर्वेदी ने 26 मार्च 2022 को छापामार कार्रवाई के बाद पत्रकारों को दिए बयान में कहा था कि प्रशांत परमार शिक्षा माफिया है। वह फर्जीवाड़ा कर नर्सिंग कॉलेज B.Ed D.Ed कॉलेज बड़े स्तर पर ग्वालियर चंबल अंचल में संचालित कर रहा था। उसने स्कॉलरशिप फर्जीवाड़ा कर यह संपत्ति अर्जित की है। एडमिशन के बाद स्कॉलरशिप के माध्यम से उसने गबन कर यह संपत्ति बनाई है। फिलहाल EOW पूरे मामले की जांच कर रही है। ग्वालियर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें.