मध्यप्रदेश में कक्षा 12 के 45,000 स्टूडेंट्स को लैपटॉप, मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना

Madhya Pradesh Board of Secondary Education
द्वारा आयोजित कक्षा 12 की परीक्षा में मेरिट लिस्ट वाले स्टूडेंट्स को लैपटॉप के लिए ₹25000 कैश ट्रांसफर किया जाएगा। मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा ऐसे 45000 स्टूडेंट्स के लिए तैयार की है जिन्हें लैपटॉप दिया जाएगा। 

गौरतलब है कि मप्र माध्यमिक शिक्षा मंडल की बारहवीं का परिणाम 29 अप्रैल को घोषित किया गया था। बारहवीं में 697880 विद्यार्थी शामिल हुए। इसमें 629381 नियमित और 68699 प्रायवेट विद्यार्थी थे। नियमित विद्यार्थियों का रिजल्ट 72.72 फीसदी रहा। इसमें 69.94 फीसद छात्र और 75.64 प्रतिशत छात्राएं पास हुईं। बारहवीं में 85 फीसद अंक करीब 45 हजार विद्यार्थियों को मिले है। इन विद्यार्थियों को लैपटाप के लिए 25-25 हजार रुपये की राशि देने की तैयारी शुरू हो गई है। 

मुख्यमंत्री मेधावी विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना कब शुरू हुई थी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर वर्ष 2009 से परीक्षाओं में अच्छे अंक लाने वाले विद्यार्थियों को प्रोत्साहन देने के लिए यह योजना शुरू की गई थी। प्रारंभ में यह योजना सिर्फ शासकीय स्कूलों के विद्यार्थियों के लिए थीं। 2009-10 में प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं की संख्या 473 थी। इसके बाद इस योजना में निजी स्कूलों के विद्यार्थियों को भी शामिल किया गया। 

मध्य प्रदेश में कक्षा 12 में कितने प्रतिशत पर लैपटॉप मिलता है

पहले सभी के लिए 85% अंक अनिवार्य किए गए थे लेकिन बाद में सामान्य व ओबीसी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 85 फीसद व एससी-एसटी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 75 फीसद कर दिया गया। इससे 2017-18 में यह संख्या लगभग 47 गुना बढ़कर 22,035 हो गई। 2018 में सामान्य व ओबीसी वर्ग के विद्यार्थी भी 75 फीसद प्रतिशत पर लैपटाप के लिए राशि की मांग करने लगे। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री ने सभी 75 फीसद वाले छात्रों को लैपटाप के लिए राशि देने की घोषणा की। 

पिछले साल 2021 में मेरिट नहीं बनने के कारण किसी विद्यार्थी को लैपटाप के लिए राशि नहीं दी गई। इस साल विभाग द्वारा बारहवीं 85 फीसद अंक वालों को ही लैपटाप के लिए 25-25 हजार रुपये देने की तैयारी की जा रही है।