लाड़ली लक्ष्मी उत्सव भोपाल में मनाया जाएगा, मुख्यमंत्री ने रूपरेखा बनाई - BHOPAL NEWS

अशोक मनवानी/
भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आगामी 2 मई को राजधानी भोपाल में लाड़ली लक्ष्मी उत्सव का गरिमामय आयोजन किया जाएगा। इसमें लाड़ली लक्ष्मी योजना की हितग्राही बालिकाओं को आमंत्रित किया जाएगा। कार्यक्रम में बालिकाओं को ड्राइविंग लायसेंस देने और माँ तुझे प्रणाम योजना में चयनित बालिकाओं को देश की सीमाओं की भ्रमण यात्रा के लिए रवाना किया जाएगा। लाड़ली लक्ष्मी उत्सव में हितग्राही बालिकाओं के अभिभावक भी हिस्सा लेंगे। कार्यक्रम का पूरे प्रदेश में ग्राम स्तर तक प्रसारण किया जाएगा। भोपाल में 2 मई को और जिलों में 3 से 11 मई की अवधि में विभिन्न कार्यक्रम भी होंगे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आज मंत्रालय में हुई बैठक में राज्य स्तरीय लाड़ली लक्ष्मी उत्सव के लिए सभी आवश्यक तैयारियाँ पूर्ण करने के निर्देश वरिष्ठ अधिकारियों को दिए। खेल एवं युवा कल्याण, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव महिला एवं बाल विकास श्री अशोक शाह और मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री मनीष रस्तोगी उपस्थित थे।

बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में 3 से 11 मई की अवधि में पंचायत स्तर पर भी उत्सव होगा। इसमें विभिन्न जिलों में स्थानीय स्तर पर विभिन्न गतिविधियों से लाड़ली लक्ष्मियों को जोड़ा जाएगा। इन गतिविधियों में बालिकाओं के स्वास्थ्य परीक्षण, फॉलिक एसिड टेबलेट्स वितरण, रंगोली एवं अन्य स्पर्धाओं के साथ खेलकूद भी शामिल हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिलों में होने वाले कार्यक्रमों में प्रभारी मंत्री, विधायक और सांसदों को आमंत्रित करने के निर्देश दिए।

कार्यक्रमों की रूपरेखा
अपर मुख्य सचिव महिला एवं बाल विकास श्री अशोक शाह ने जानकारी दी कि लाडली लक्ष्मी उत्सव में योजना की हितग्राही बालिकाओं के साथ अभिभावकों को विशेष रूप से आमंत्रित किया जाएगा। शिक्षा और अन्य क्षेत्रों में उत्कृष्ट उपलब्धि प्राप्त करने वाली बालिकाओं का सम्मान भी किया जाएगा। माँ तुझे प्रणाम योजना में 200 बालिकाओं को राष्ट्र की सीमाओं तक भ्रमण पर भेजा जाएगा। यह दल 2 मई को भोपाल से रवाना होगा और 7 मई को वापस लौटेगा। लाड़ली लक्ष्मियों को भोपाल के जनजातीय संग्रहालय का भ्रमण भी करवाया जाएगा। ग्राम स्तर पर बेहतर लिंगानुपात वाली ग्राम पंचायतों को पुरस्कृत करने की रूपरेखा भी बनाई गई है। ग्रामों में 3 से 11 मई की अवधि में जन-सहभागिता से पोषण मटके में खाद्यान्न सामग्री देने, वॉल पेंटिंग, आँगनवाड़ी केन्द्रों की सजावट, स्वरूचि भोज जैसे कार्यक्रम होंगे, जिनसे समाज के विभिन्न वर्गों को जोड़ा जाएगा।

लाड़ली लक्ष्मी योजना : सफलता के 15 वर्ष
बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में 1 अप्रैल 2007 से प्रारंभ लाड़ली लक्ष्मी योजना से बालिकाओं के सशक्तिकरण का कार्य हुआ है। लिंगानुपात में सुधार, बालिकाओं के जन्म के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण के विकास, बालिकाओं के शैक्षणिक स्तर के उन्नयन और स्वास्थ्य में सुधार के लक्ष्य पूरे करने में योजना की उपयोगिता सिद्ध हुई है। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में करीब 43 लाख लाड़ली लक्ष्मी बेटियाँ हैं।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पचमढ़ी में गत 26 मार्च को चिंतन बैठक में मई माह में भोपाल सहित प्रदेश के सभी जिलों में लाड़ली लक्ष्मी उत्सव मनाने के निर्देश दिए थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान का मत है कि मध्यप्रदेश के लिए इतनी बड़ी संख्या में लाड़ली लक्ष्मी बेटियों का होना गर्व की बात है। इन बेटियों को आर्थिक रूप से आत्म-निर्भर बनाने के लिए लाड़ली लक्ष्मी योजना को नई ऊँचाइयाँ दी जाएंगी। बेटियाँ अनेक क्षेत्रों में लीड कर रही हैं। इस उद्देश्य से लाड़ली लक्ष्मी के प्रोत्साहन के लिए लाड़ली लक्ष्मी उत्सव की रूपरेखा बनाई गई है। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें।