IFMIS सॉफ्टवेयर में कर्मचारियों का TA अटका, क्लेम ही नहीं कर पा रहे- MP karmchari news

जबलपुर
। मध्य प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ ने जारी विज्ञप्ति में बताया कि IFMIS साफ्टवेयर की विषमता एवं जटिलता के कारण कर्मचारी शासकीय कार्य हेतु आवागमन तो कर रहा है और प्रतिदिन अपने फील्डक्षेत्र में भ्रमण कर रहा है, परंतु उसे TA- यात्रा भत्ता का भुगतान नहीं हो पा रहा है। 

आईएफएमआईएस साफ्टवेयर की जटिलता के कारण कर्मचारी उसे पूर्णरूप से भर नहीं पाता है और साफ्टवेयर में टीए को सिर्फ कम्प्यूटर पर ही फीड किया जा सकता है, और मोबाईल पर साफ्टवेयर में टीए ऑनलाइन भरता ही नहीं है। इसमें तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी भी जो कम्प्यूटर चलाना नहीं जानते हैं और उन्हें इससे संबंधित किसी भी प्रकार का प्रशिक्षण विभाग द्वारा नहीं दिया गया है और टी.ए. भुगतान के लिए सिर्फ ऑनलाइन आवेदन ही करना पड़ता है। आईएफएमआईएस साफ्टवेयर में आनलाईन आवेदन नहीं हो पाने के कारण कर्मचारियों को टी.ए का भुगतान नहीं होने से आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड रहा है।

संघ के अवेन्द्र राजपूत अवधेश तिवारी , मुकेश सिंह , आलोक अग्निहोत्री , ब्रजेश मिश्रा , दुर्गेश पाण्डेय , मनोज सिंह , वीरेन्द्र चंदेल , एस पी बाथरे , परशुराम तिवारी , मुकेश मिश्रा , गणेश शुक्ला , सी एन शुक्ला वीरेन्द्र तिवारी , श्यामनारायण तिवारी , घनश्याम पटेल , अजय दुबे ,  तुषरेन्द्रसिंह , नीरज कौरव , निशांक तिवारी , नवीन यादव , अशोक मेहरा , सतीश देशमुख , रमेश काम्बले , पंकज जायसवाल , प्रीतोष तारे , शेरसिंह , मनोज सिंह , अभिषेक वर्मा ,राकेश वर्मा, वीरेन्द्र पटेल , रामकृष्ण तिवारी , रितुराज गुप्ता , अमित गौतम , अनिल दुबे , शैलेन्द्र दुबे , अतुल पाण्डे आदि ने मुख्यमंत्री जी को ईमेल कर मांग की है राज्य के कर्मचारियों को आफलाईन टी.ए. का भुगतान किया जाये। मध्यप्रदेश कर्मचारियों से संबंधित महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया MP karmchari news पर क्लिक करें.