ABHVV BHOPAL को राष्ट्रीय स्तर का दर्जा दिलाएंगे, 147 पद स्वीकृत: उच्च शिक्षा मंत्री

भोपाल।
उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा है कि अटल बिहारी हिन्दी विश्वविद्यालय को राष्ट्रीय स्तर का दर्जा दिलाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। जल्द ही केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय से इस संबंध में चर्चा की जायेगी। मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि इसके लिए यूजीसी के मापदण्डों के अनुसार विश्वविद्यालय के 21 विभागों के लिए एक प्राध्यापक, दो सह प्राध्यापक एवं चार सहायक प्राध्यापक कुल सात पद के अनुपात से 147 पद स्वीकृत किए गए है।

अटल बिहारी हिन्दी विश्वविद्यालय में संचालित डिग्री कोर्स

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि अटल बिहारी हिन्दी विश्वविद्यालय द्वारा इनोवेशन करते हुए एमबीबीएस पाठ्यक्रमों के अनुवाद का कार्य विषय विशेषज्ञों के नेतृत्व में निरंतर जारी है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय में शैक्षणिक सत्र 2021-22 में खेल में चोट निदान प्रबंधन (स्पोर्टस एण्ड इन्ज्यूरी मैनेजमेंट), आधारभूत स्वास्थ्य संरक्षण (बेसिक हेल्थ केयर) जैसे नवीन पाठ्यक्रम संचालित है। 

इसके अतिरिक्त योग, पंचकर्म, प्राकृतिक चिकित्सा, प्राथमिक चिकित्सा उपचार, मशरूम उत्पादन, तकनीकी एवं प्रबंधन, जैविक कृषि एवं प्रौद्योगिकी प्रबंधन, सायबर कानून, आहारिकी एवं जन-स्वास्थ्य पोषण, होटल मैनेजमेंट एण्ड टूरिज्‍म आदि पाठ्यक्रम संचालित हो रहे है। 

मंत्री डॉ. यादव ने बताया कि विश्वविद्यालय, चिकित्सा पाठ्यक्रम के अतिरिक्त इंजीनियरिंग और कृषि पाठ्यक्रमों के लिए भी कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि वर्तमान सत्र - 2021-22 में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग तथा केन्द्रीय शिक्षा मंत्रालय द्वारा निर्दिष्ट, स्टार्टअप के विभिन्न रोजगारन्मुखी 34 पाठ्यक्रम प्रदेश के विभिन्न जिलों में स्थापित लगभग 200 अध्ययन केन्द्रों में संचालित किए जा रहे है।

अटल बिहारी हिन्दी विश्वविद्यालय का मुख्य उद्देश्य

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. यादव ने कहा कि अटल बिहारी हिन्दी विश्वविद्यालय का मुख्य उद्देश्य हिन्दी भाषा को अध्ययन, प्रशिक्षण, ज्ञान की वृद्धि और प्रसार के लिए तथा विज्ञान, साहित्य, कला और अन्य विद्याओं में उच्चस्तरीय अनुसंधान और अध्ययन के लिए शिक्षा का माध्यम बनाना है। विश्वविद्यालय हिन्दी भाषा के गौरव के लिए कार्य कर रहा है। मंत्री डॉ. यादव ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा पाँच गाँव गोद लिए गए है। विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट प्रकोष्ठ द्वारा जस्ट डायल कम्पनी के माध्यम से लगभग 670 विद्यार्थियों को रोजगार भी प्रदान किया गया है। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया bhopal news पर क्लिक करें।