मोटापा घटाने वाले इंजेक्शन का आविष्कार, मात्र 1 सप्ताह में बंद कर देता है - Health News

नई दिल्ली।
ब्रिटेन के वैज्ञानिकों ने एक ऐसे इंजेक्शन का आविष्कार किया है जिसका साप्ताहिक डोज लेने से शरीर की अतिरिक्त चर्बी को नष्ट किया जा सकता है यानी मोटापा घटाए जा सकता है। इस इंजेक्शन को अमेरिका और ब्रिटेन में सरकारी मंजूरी मिल चुकी है। WHO की एक रिपोर्ट के अनुसार पूरी दुनिया में 65 करोड़ से ज्यादा वयस्क, मोटापे का शिकार हैं।

मोटापा घटाने वाले इंजेक्शन का नाम

BBC की रिपोर्ट के अनुसार, इस इंजेक्शन का नाम सेमाग्लूटाइड (semaglutide) है। यह एक तरह का ड्रग है जो हमारी भूख दबाता है। इस ड्रग को इंजेक्शन के जरिए दिया जाएगा। शरीर के अंदर यह उस हॉरमोन (GLP1) की नकल करेगा जो खाना खाने के बाद रिलीज होता है। इससे हमें पेट भरने की फीलिंग आती है।

मोटापा घटाने वाला इंजेक्शन कैसे काम करता है

वैज्ञानिकों के मुताबिक, इंजेक्शन लगने पर लोगों को भूख कम लगेगी और वो पहले की तुलना में कम खाना शुरू कर देंगे। इस तरह उनका वजन अपने आप ही कम हो जाएगा।सेमाग्लूटाइड कोई नई दवा नहीं है। इसे डायबिटीज के मरीजों में हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने के लिए दिया जाता है। हालांकि मोटे लोगों को इस ड्रग का डबल डोज दिया जाएगा।

करीब 2 हजार लोगों पर हुई रिसर्च

सेमाग्लूटाइड मोटापा कम करने में कारगर है, इसे साबित करने के लिए 16 देशों में करीब 2 हजार लोगों पर रिसर्च की गई। इसे न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित किया गया है। इस 15 महीने के ट्रायल के दौरान लोगों का औसतन 15 किलोग्राम वजन कम हुआ। उन्हें हर हफ्ते इंजेक्शन दिया गया। साथ ही उनकी डाइट और लाइफस्टाइल में भी बदलाव करवाए गए। ट्रायल में 32% लोगों ने इस दवा की मदद से अपने शरीर के वजन का पांचवां हिस्सा कम किया।

ड्रग रेगुलेटर से मिली मंजूरी

इस इंजेक्शन को ब्रिटेन के ड्रग रेगुलेटर नेशनल इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ एंड केयर एक्सीलेन्स (NICE) से मंजूरी मिल गई है। फिलहाल इसे उन लोगों को दिया जाएगा जिनका बॉडी मास इंडेक्स (BMI) 35 से ज्यादा है। इस कैटेगरी में वो लोग आते हैं जो सबसे ज्यादा मोटे हैं।

BMI एक मेट्रिक सिस्टम है जिसका इस्तेमाल इंसान के वजन को मापने के लिए किया जाता है। जिन लोगों का BMI 25 से ज्यादा होता है, उन्हें ओवरवेट कहा जाता है और जिनका BMI 30 से ज्यादा होता है, उन्हें ओबीस (मोटा) कहा जाता है।

डॉक्टर की परमिशन के बिना ना तो लिया जा सकता है नहीं बंद कर सकते हैं

NICE के अनुसार, इस इंजेक्शन को डॉक्टर की सलाह पर ही लिया जा सकेगा। जिन लोगों को डायबिटीज है और 30 से 35 के बीच के BMI में आते हैं, वो भी इस ड्रग को ले सकेंगे।

एक बार इंजेक्शन लेना शुरू किया तो फिर डॉक्टर की सलाह पर ही इसका इस्तेमाल बंद किया जा सकेगा। अचानक इंजेक्शन बंद करने से साइड इफेक्ट हो सकते हैं। NICE की ओर से पूरी गाइडलाइंस आने के बाद इस इंजेक्शन को बाजार में उतारा जाएगा।

अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने जून में ही इस इंजेक्शन को मंजूरी दे दी थी। यहां 30 से ज्यादा BMI वाले लोग इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। साथ ही 27 से ज्यादा BMI वाले लोग जिन्हें वजन से जुड़ी कोई बीमारी है, वो भी इसका उपयोग कर सकते हैं।

इंजेक्शन के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं

इंजेक्शन लेने पर कई लोगों को उल्टी, डायरिया, कब्ज और जी मचलाने जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। हालांकि वैज्ञानिकों का कहना है कि ये साइड इफेक्ट्स कुछ समय बाद ठीक हो जाते हैं। स्वास्थ्य से संबंधित समाचार एवं जानकारियों के लिए कृपया Health Update पर क्लिक करें.