उज्ज्वला योजना के नियम बदलने वाले हैं, एडवांस पेमेंट की शर्त का प्रस्ताव - Hindi News

नई दिल्ली।
भारत में उज्ज्वला योजना के तहत निर्धन नागरिकों को बिना कोई डिपॉजिट के रसोई गैस सिलेंडर दिया जाता है परंतु अब नियमों में बदलाव की तैयारी चल रही है। पेट्रोलियम कंपनी द्वारा एडवांस पेमेंट की शर्तें का प्रस्ताव रखा गया है। 

भारत में उज्जवला योजना के तहत पेट्रोलियम कंपनी इंडेन, एचपी और भारत द्वारा बिना किसी डिपॉजिट के रसोई गैस सिलेंडर उपलब्ध कराया जाता है। एक कनेक्शन का मूल्य ₹3200 है। केंद्र सरकार की तरफ से ₹1600 सब्सिडी दी जाती है। शेष ₹1600 उपभोक्ता से किस समय वसूल किए जाते हैं। कंपनियां इस प्रक्रिया को बदलना चाहती है। 

कंपनियों के एक्सपीरियंस के अनुसार उज्जवला योजना के तहत वितरित किए गए रसोई गैस सिलेंडरों की सभी किस्तें समय पर प्राप्त नहीं हो रही। जिन उपभोक्ताओं ने योजना के तहत रसोई गैस सिलेंडर के लिए उनमें से एक बड़ी संख्या में उपभोक्ताओं द्वारा अपनी रसोई गैस सिलेंडर रिफिल नहीं कराए जा रहे हैं। इसके कारण पेट्रोलियम कंपनियों का कारोबार गड़बड़ा रहा है। 

आरोप तो यह भी लगी है कि उज्जवला योजना के तहत दिए जाने वाले रसोई गैस सिलेंडर बाजार में ब्लॉक किए जा रहे हैं। कंपनियों की सबसे बड़ी समस्या यह है कि यदि योजना के तहत गैस सिलेंडर का रिफिल नहीं होगा तो गैस सिलेंडर की मूल कीमत भी प्राप्त नहीं हो पाएगी। इसलिए कंपनियां चाहती है कि उपभोक्ता को किस्तों की सुविधा बंद कर दी जाए। उसके हिस्से के ₹1600 एडवांस लिए जाएं। भारत की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया Hindi Samachar पर क्लिक करें.