दर्जा मंत्री इमरती देवी को कान पकड़कर माफी मांगनी पड़ी, महाराजा सिंधिया ने टोका - GWALIOR NEWS

ग्वालियर।
कोरोनावायरस की तीसरी लहर के बीच फेस मास्क के लिए पहले भी ट्रोल हो चुकी मध्यप्रदेश शासन की दर्जा मंत्री इमरती देवी को आज उनके आराध्य महाराजा ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी टोक दिया। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने उन्हें कपड़े का फैशनेबल नहीं बल्कि क्लीनिकल मास्क लगाने का आदेश दिया है। 

मध्यप्रदेश में कैबिनेट मंत्री के पद पर रहते हुए विधानसभा का उपचुनाव हार चुकी इमरती देवी को ज्योतिरादित्य सिंधिया की कृपा से लघु उद्योग विकास निगम के चेयरमैन का पद प्राप्त हो गया है। यह कैबिनेट मंत्री स्तर का पद है। पिछले दिनों राजधानी भोपाल में जब इमरती देवी बिना मास्क के जा रही थी तब आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उन्हें पहनने के लिए क्लीनिकल फेस मास्क कर दिया लेकिन इमरती देवी ने मास्क पहनने के बजाय उसे जमीन पर फेंक दिया था। इसी बात को लेकर सोशल मीडिया पर उनकी काफी निंदा हुई थी। 

आज मोतीमहल स्थित मान सभागार में कोविड समीक्षा बैठक लेने के बाद सिंधिया बाहर निकले तो उन्होंने देखा इमरती देवी भगवा रंग के कपड़े का मास्क लगाए हुए थीं। उन्होंने सभी के सामने उन्हें टोका और कहा कि कोरोना अभी गया नहीं है। कपड़े के मास्क से वायरस से बचाव संभव नहीं है। इसलिए आप क्लीनिकल मास्क लगाओ। सिंधिया की हिदायत सुनने के बाद इमरती देवी ने कान पकड़कर कहा- गलती हो गई महाराज। ग्वालियर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें.