USA और ग्रेट ब्रिटेन में घुमावदार बाउंड्री वॉल क्यों बनाई जाती है- GK in Hindi

यदि कोई बाउंड्री वॉल की बात करता है तो आंखों के सामने एक सीधी दीवार की इमेज बन जाती है। जिसके बीच में कुछ पिलर्स लगे होते हैं लेकिन यदि आप ग्रेट ब्रिटेन और संयुक्त राज्य अमेरिका की बात करेंगे तो वहां घुमावदार बाउंड्री वॉल बनाई जाती है। सवाल यह है कि जब सारी दुनिया में सीधी बाउंड्री वॉल बनती है तो फिर किन दो देशों को सांप की तरह लहराती हुई बाउंड्री बनाने की क्या जरूरत है। आइए पता लगाते हैं:- 

विकिपीडिया पर बताया गया है कि इस तरह की दीवार को 'Crinkle crankle wall' कहते हैं। यह दीवारें सस्ती और मजबूत होती हैं। हिस्ट्री की किताब से पता चलता है कि सांप की तरह लहराती हुई बाउंड्री वॉल बनाने का चलन, नया नहीं है बल्कि बेहद प्राचीन है। सबसे पहले मिस्र देश में इस तरह की दीवारें बनाई गई थी। इसके बाद ग्रेट ब्रिटेन और फिर संयुक्त राज्य अमेरिका में इस तरह की दीवारें बनाई गईं। 

इन दीवारों की सबसे खास बात यह होती है कि यह बेहद कम लागत में तैयार हो जाती है और ज्यादा मजबूत होती है। इस प्रकार की दीवारें अपने डिजाइन के कारण किसी भी दबाव को सहन करने की क्षमता रखती हैं। मात्र एक ईंट की सीधी दीवार बनाना किसी भी स्थिति में संभव नहीं है। यदि आप कोई टुकड़ा खड़ा भी कर देंगे तो वह काफी कमजोर होगा लेकिन यदि आप उसको घुमावदार कर देते हैं तो वह मजबूत हो जाती है। आंधी और बाढ़ की स्थिति में सीधी दीवार की तुलना में ज्यादा देर तक टिकी रहती है। 

अब अपन को ध्यान आ गया होगा कि भारत के कई सारे प्राचीन किलो की दीवारें भी ऐसी ही है। इसलिए तो वह किले इतने सालों तक मौसम की मार दी झेलते हुए सीना तान कर खड़े हैं।  Notice: this is the copyright protected post. do not try to copy of this article (general knowledge in hindi, gk questions, gk questions in hindi, gk in hindi,  general knowledge questions with answers, gk questions for kids, ) :- यदि आपके पास भी हैं कोई मजेदार एवं आमजनों के लिए उपयोगी जानकारी तो कृपया हमें ईमेल करें। editorbhopalsamachar@gmail.com


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here