अमर जीवों में ऐसा क्या होता है जिससे उनकी मृत्यु नहीं होती- science general knowledge

सभी जानते हैं कि मृत्यु, जीवन का अंतिम सत्य है परंतु साइंस के स्टूडेंट जानते हैं कि पृथ्वी पर मौजूद सभी जीवो की मृत्यु नहीं होती, कुछ जीव अमर होते हैं। यदि आप इनके शरीर को दो हिस्सों में काट देंगे तो यह दो जीवित जीव बन जाएंगे। इसी को अमरता (Immortility) कहा जाता है इसमें कुछ विशेष जीव जैसे -अमीबा, प्लेनेरिया, हाइड्रा आदि आते हैं परंतु अब सवाल है कि इनमें ऐसा क्या पाया जाता है, जिसके कारण यह अमर हो जाते हैं। तो चलिए आज यही पता लगाने की कोशिश करते हैं।

अमर जीवों में क्या विशेषता पाई जाती है- Specific Features Of These Organisms 

कुछ निम्न श्रेणी के जीव जंतुओं में अपनी संतति (Generations) को बढ़ाने के लिए अलैंगिक जनन (Asexual Reproduction) की क्षमता पाई जाती है। यानी शिशु के जन्म के लिए माता पिता की जरूरत नहीं होती। जनक (Parent) का शरीर लगभग दो समान भागों में बंट जाता है और प्रत्येक भाग वृद्धि करके जनक के समान ही नए जीवों का निर्माण करता जाता है। इसमें मुख्य रूप से विखंडन (fragmentation), मुकुलन (Budding) , पुनरुदभवन (Regenration) आदि विधियां पाई जाती हैं। जिनसे यह जीव लगातार अपनी संख्या बढ़ाते रहते हैं। 

एक जीव से दो जीव कैसे बनते हैं- How does an Organism divide into Two Organisms

इन जीवों में विखंडन हो जाने पर दो एक जैसे दो जीव बन जाते हैं तथा जीवद्रव्य (Protoplasm) नष्ट या बेकार नहीं होता। इसलिये इन जीवों को अमर (Immortal) कह दिया जाता है। इस प्रकार का विखंडन केवल एककोशिकीय जीवों (Unicellular Organisms) में ही  पाया जाता है। जिसमें जनक शरीर अपनी पहचान खो देता है और जनक का शरीर दो या दो से अधिक पुत्रीकोशिकाओं (Daughter Cells) में विभाजित हो जाता है। इसमें पहले केंद्रक का विभाजन (Karyokinesis ) होता है और बाद में कोशिका द्रव्य (Cytokinesis) का विभाजन होता है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here