INDORE NEWS- 100 से ज्यादा लड़कियों को प्यार के जाल में फंसा लाइफ बर्बाद कर दी

इंदौर
। अनैतिक अनैतिक देह व्यापार के मामले में गिरफ्तार किए गए बबलू विश्वास के बारे में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया। पुलिस का दावा है कि कोलकाता के रहने वाले बबलू विश्वास ने 100 से ज्यादा लड़कियों को झूठे प्यार के जाल में फंसाया और उनकी लाइफ बर्बाद कर दी। उसके पास से 200 से ज्यादा फर्जी आधार कार्ड मिले हैं। आरोपियों ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि वे किराए पर कमरे लेते थे। रेंट एग्रीमेंट बनने के बाद उसकी मदद से वोटर आईडी, आधार और ड्राइविंग लाइसेंस बनवा लेते थे।

सरगना विजय दत्त से बड़ा खिलाड़ी बबलू बिश्वास

विजयनगर टीआई तहजीब काजी ने बताया कि सेक्स रैकेट के सरगना विजय दत्त से बड़ा खिलाडी बबलू बिश्वास है। देश में देह व्यापार के लिए पहले युवतियों को गर्लफ्रेंड बनाता था। बाद इन्हें भी देह व्यापार में धकेल देता था। आरोपी के अब तक 100 से अधिक गर्लफ्रेंड्स बनाने की बात सामने आ चुकी है।

डॉक्यूमेंट्स में किसी का पिता तो किसी में पति

सेक्स रैकेट में पकड़ाई युवतियों के कई कागजातों में बबलू का नाम किसी के पति तो किसी के पिता के रूप में दर्ज है। युवतियों के पास मिले आधार, पेन कार्ड और अन्य दस्तावेजों में कई युवतियों के नाम के साथ बबलू का नाम जुड़ा है। इससे गिरोह के तार कई राज्यों में फैले होने के संकेत मिले हैं।

सभी दस्तावेजों में पत्नी के नाम भी अलग-अलग

गिरफ्तार आरोपी विजय दत्त उर्फ मोमिनुल के पासपोर्ट में पिता का नाम विमल दत्त, मां अम्बिका दार व पत्नी का नाम ज्योत्सना दत्त लिखा है। कुछ डॉक्यूमेंट्स में विजय दत्त के परिवार का पता मुंबई में अलकापुरी नालासोपारा दिया है। असल में आरोपी विजय दत्त के अन्य कागजात, जो कि बांग्लादेश के बने हैं, वो भी पुलिस को हाथ लगे हैं। इनमें विजय की पत्नी का नाम जैस्मीन खातून है।

मुंबई में दिया था चैलेंज
पुलिस की टीम जब मुंबई के नालासोपारा में विजय दत्त की तलाश कर रही थी, उस समय पुलिस को बबलू बिश्वास हाथ लगा गया। उसने पुलिस को चैलेंज किया था कि यदि आप इंदौर पुलिस हैं, तो विजय को पकड़ कर दिखाओ। इसके बाद पुलिस बबलू को इंदौर ले आई। जैसे ही, थाने में दूसरे दिन विजय को देखा, तो पुलिस को सैल्यूट मारा। कहा- मान गए इंदौर पुलिस...।

शेल्टर होम से युवती को भगा चुका है

5 महीने पहले इंदौर के बाणगंगा शेल्टर होम से कुछ बांग्लादेशी युवतियां फरार होने की बात सामने आई थी। जांच में खुलासा हुआ था कि बबलू इन युवतियों में से एक को पत्नी बताकर ले गया था। जहां पुलिस लंबे समय से फरार युवतियों की तलाश कर रही थी। पकड़ाए जाने के बाद बबलू ने पुलिस को बताया कि जब उसे इस बात की जानकारी हुई, तो उसने फर्जी आधार बनाया। आसमा नाम की युवती को बंगाल ले गया। वहां उसे फिर से सेक्स रैकेट में धकेल दिया।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here