GWALIOR NEWS- डाकुओं के डर से धर्मपुरा गांव खाली, 70% मकानों में ताले

ग्वालियर
। मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले के धर्मपुरा गांव में डाकुओं के डर से आधे से ज्यादा गांव खाली हो गया है। 70% मकानों में ताले पड़े हुए हैं। लोग अपना घर और संपत्ति छोड़ कर चले गए हैं। उन्हें डर है कि कथित डकैत लाखन गडरिया गिरोह के लोग बदला लेने कभी भी आ सकते हैं।

गांव वालों ने घेरकर कुल्हाड़ियों से काट डाला था

8 नवंबर 2021 की सुबह धर्मपुरा गांव में पंचायत के दौरान 3 गांव के 100 से अधिक ग्रामीणों ने ₹10000 के इनामी कथित डकैत लाखन गडरिया और उसके साथी राजपाल बघेल को चारों तरफ से घेरकर कुल्हाड़ियों से काट डाला था। गिरोह के दो लोग भीड़ से बच कर फरार हो गए थे। इस घटना के बाद पुलिस ने इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया था परंतु जिस तरीके से लाखन गडरिया ने हमला किया था, ग्रामीणों को डर है कि गडरिया गिरोह फिर से हमला कर सकता है।

मामला क्या है- धर्मपुरा गांव में भीड़ ने इनामी बदमाश लाखन गडरिया को क्यों मारा 

धर्मपुरा गांव ग्वालियर जिले के डबरा सर्कल के गिजोर्रा थाना क्षेत्र में आता है। इस गांव के रहने वाले राजेंद्र सिंह बघेल के परिवार की एक महिला का फोटो चंद्रभान सिंह कुशवाहा के मोबाइल में मिला। यहीं से दोनों पक्षों के बीच तनाव शुरू हो गया था। राजेंद्र बघेल ने लाखन गडरिया को बुलाकर चंद्रभान सिंह कुशवाहा पर हमला करवाया। चंद्रभान को किडनैप किया गया और बेरहमी से पीटा गया। चंद्रभान ने पुलिस से शिकायत नहीं की लेकिन इस मामले के लिए पंचायत बुलाई। 

8 नवंबर 2021 को जब पंचायत चल रही थी, 3 गांव के लोग पंचायत में मौजूद थे। पंचायत ने दोनों पक्षों पर 10-10 हजार रुपए का जुर्माना लगाकर मामले का निपटारा कर दिया था तभी राजेंद्र बघेल के कहने पर स्वघोषित गडरिया गैंग का सरगना लाखन सिंह गडरिया अपने तीन साथियों के साथ दो बाइक पर सवार होकर आ गया। आते ही उसने फायरिंग शुरू कर दी। करीब 12 राउंड फायरिंग की गई। इस दौरान पंचायत में मौजूद लोगों के साथ बंदूक की बट से मारपीट की गई। 

हमले के समय तो लोग भाग गए, परंतु थोड़ी देर बाद करीब 100 से ज्यादा लोग वापस लौटे। उनके हाथों में कुल्हाड़ी और लाठियां थी। उन्होंने चारों तरफ से घेर कर हमलावरों पर जवाबी हमला किया। लाखन और राजपाल भीड़ द्वारा घेर लिए गए जबकि फिर दोनों लोग मौके से फरार हो गए। भीड़ के हमले में लाखन और राजपाल की मौत हो गई। इस घटना के बाद धर्मपुरा गांव में दहशत का माहौल है। ज्यादातर परिवार बघेल समाज के हैं परंतु उनमें से भी कई किसी भी प्रकार की अप्रिय स्थिति से बचने के लिए घर में ताला डाल कर चले गए। ग्वालियर की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया GWALIOR NEWS पर क्लिक करें.


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here