BHOPAL NEWS- पुलिस और छात्र नेता बेकाबू, लाठियां बरसाईं, पथराव हुआ

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी में कांग्रेस पार्टी की स्टूडेंट यूनियन NSUI ने उग्र प्रदर्शन किया। पुलिस द्वारा लगाए गए बैरिकेट्स उठा कर फेंक दिए। पुलिस की तरफ पत्थर उछाले गए। यह देखकर तैनात पुलिस टीम बेकाबू हो गई। डीआईजी इरशाद वली पुलिस कर्मियों को लाठीचार्ज करने से मना करते रहे लेकिन पुलिस ने उपद्रव कर रहे छात्र नेताओं पर जमकर लाठियां बरसाईं। 

NSUI को किसने भेजा था, क्यों प्रदर्शन कर रहे थे 

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय से पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मंत्री पीसी शर्मा, विधायक कुणाल चौधरी, NSUI के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन, NSUI के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष विपिन वानखेड़े, प्रदेश अध्यक्ष मंजुल त्रिपाठी आदि ने छात्र नेताओं को सीएम हाउस का घेराव करने के लिए भेजा था। NSUI कार्यकर्ता शिक्षा बचाओ-देश बचाओ अभियान के तहत प्रदर्शन करने आए थे। 

भोपाल पुलिस ने रेडक्रॉस चौराहे पर बैरिकेडिंग की थी

कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ का आदेश मिलने के बाद एनएसयूआई के छात्र नेता सीएम हाउस का घेराव करने के लिए निकले। पुलिस ने उन्हें रोकने के लिए रेड क्रॉस चौराहे के पास बैरिकेडिंग कर दी थी एवं भीड़ को तितर-बितर करने के लिए वाटर कैनन (पानी फेंकने वाली मशीन) तैनात की गई थी। स्थिति को नियंत्रित करने के लिए कलेक्टर अविनाश लवानिया और DIG इरशाद वली मौजूद थे। 

DIG ने शांति की अपील की तो पत्थर उछाल दिया

DIG इरशाद वली हमेशा की तरह प्रदर्शनकारियों से शांतिपूर्वक गिरफ्तारी देने की बात कर रहे थे, तभी बैरिकेडिंग के पास पहुंचे कार्यकर्ताओं में से किसी ने पुलिस की तरफ पत्थर उछाल दिया। पुलिस ने कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज कर दिया। प्रदर्शनकारियों की तरफ से वेरीकेट फेंके गए। इसके बाद घमासान शुरू हो गया। कई कार्यकर्ता घायल हो गए। पुलिस ने कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी शुरू कर दी।

DIG पुलिस कर्मियों से लाठीचार्ज ना करने की अपील करते रहे 

DIG इरशाद वली लगातार माइक के माध्यम से पुलिस कर्मियों से अपील करते रहे कि वह लाठीचार्ज ना करें लेकिन पुलिसकर्मियों ने रुकने का नाम नहीं लिया। जब तक पूरा पूरी रोड खाली नहीं हो गई तब तक पुलिस लाठी बरसाती रही।

आदिवासी छात्रों की स्कॉलरशिप के लिए शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे थे: कमलनाथ

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि आदिवासी छात्रों की रुकी स्कॉलरशिप जारी करने और रोजगार देने की मांग को लेकर NSUI प्रदर्शन कर रही थी। शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हजारों छात्रों पर शिवराज सरकार के इशारे पर पुलिस ने बर्बरता पूर्वक लाठीचार्ज किया। उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इस लाठीचार्ज में कई छात्र व NSUI के पदाधिकारी घायल हुए हैं। 

2 विधायक, NSUI के राष्ट्रीय और प्रदेश अध्यक्ष सहित 200 हिरासत में, 12 से ज्यादा घायल

युवक कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रदेशाध्यक्ष विवेक त्रिपाठी ने बताया कि पुलिस के लाठीचार्ज में 12 से ज्यादा छात्र और पदाधिकारी घायल हुए हैं। पुलिस ने 200 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया है। इनमें दो विधायक कुणाल चौधरी, विपिन वानखेड़े और NSUI के राष्ट्रीय अध्यक्ष और प्रदेशाध्यक्ष भी शामिल हैं। भोपाल की महत्वपूर्ण खबरों के लिए कृपया BHOPAL NEWS पर क्लिक करें.


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here