RASHIFAL- 6 सितंबर से मंगल का 12 राशियों पर प्रभाव क्या पड़ेगा, यहां पढ़िए

ज्योतिषशास्त्र में मंगल ग्रह को सभी ग्रहों का सेनापति कहा जाता है। मंगल को ऊर्जा, भाई, भूमि, शक्ति, साहस, पराक्रम, शौर्य, गतिशीलता और जीवन शक्ति का कारक ग्रह माना जाता है। कन्या राशि में मंगल का गोचर 6 सितंबर 2021 को सुबह 3:21 बजे से 22 सितंबर दोपहर 1:13 बजे तक रहेगा, इसके बाद यह तुला राशि में प्रवेश कर जाएगा।

मेष राशि पर कन्या के मंगल का फल

मेष राशि के जातकों के लिए मंगल उनके पहले और आठवें घर का स्वामी है और इनके ऋण, शत्रुओं और पेशेवर जीवन के छठे घर में मंगल का गोचर हो रहा है। ऊर्जावान और उत्साही रहेंगे। यह समय सफलता और लाभ देने वाला होगा। वरिष्ठ अधिकारी आप की प्रशंसा करेंगे। प्रतिद्वंद्वियों पर विजय प्राप्त होगी। विदेशी संबंधों से लाभ प्राप्त हो सकता है लेकिन खर्चा बढ़ सकता है। पार्टनर, मित्र या रिश्तेदारों से विवाद हो सकता है। स्वास्थ्य भी गड़बड़ हो सकता है।
उपाय: हनुमान जी की आराधना करें।

वृषभ राशि पर कन्या के मंगल का फल

वृषभ राशि वालों के लिए मंगल द्वादश और सप्तम भाव का स्वामी है और वर्तमान में यह आपके पंचंम भाव में गोचर करेगा। जीवन साथी के साथ आपका व्यवहार अच्छा रहेगा। 22 सितंबर तक किसी भी प्रकार का जुआ-सट्टा आप को बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है। कर्मचारियों के लिए अच्छा समय नहीं है। ऑफिस में राजनीति का शिकार हो सकते हैं। संतान की तरफ चिंता बढ़ेगी। संतान का स्वास्थ्य गड़बड़ हो सकता है। संतान का व्यवहार आपको व्यथित कर सकता है। स्वयं के स्वास्थ का भी ध्यान रखना होगा।
उपाय: हनुमान चालीसा का पाठ करें।

मिथुन राशि पर कन्या के मंगल का फल

मिथुन राशि के जातकों के लिए, मंगल छठे और ग्यारहवें घर का स्वामी है और यह आपके सुख, माता, विलासिता और संपत्ति के चौथे भाव में गोचर करेगा। 22 सितंबर तक आपका स्वभाव उग्र हो सकता है। इसके कारण रिश्ते खराब हो सकते हैं। जीवनसाथी का पूरा सहयोग प्राप्त होगा। यदि परिवार ने साथ दिया तो इस अवधि में लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। संपत्ति के संबंध में विचार एवं निर्णय हो सकता है। स्वास्थ्य के मामले में रक्त संबंधी परेशानी हो सकती है।
उपाय: मंगलवार को मसूर की दाल दान करें।

कर्क राशि पर कन्या के मंगल का फल

कर्क राशि के जातकों के लिए, मंगल पांचवें और दसवें भाव का स्वामी है और आपके साहस, भाई-बहनों और छोटी यात्राओं के तृतीय भाव में इसका गोचर होने जा रहा है। यह समय आपके लिए सकारात्मक परिणाम देने वाला है। परिस्थितियों पर विजय प्राप्त करेंगे। बिना विशेषज्ञ की सलाह के कोई निवेश ना करें। कर्मचारियों को ऑफिशियल टूर पर जाना पड़ सकता है। अच्छे लोगों से मुलाकात होगी। हल्का जुखाम बुखार हो सकता है।
उपाय: मंगल मंत्र का जाप करें: ओम क्रां क्रीम् क्रौं सः भौमाय नमः, 40 दिनों में 7000 बार।

सिंह राशि पर कन्या के मंगल का फल

सिंह राशि के जातकों के लिए मंगल चौथे और नौवें घर का स्वामी है और आपके धन, वाणी और संचार के दूसरे घर में इसका गोचर होगा। धन के मामले में समय अच्छा नहीं है। बेहतर होगा 22 सितंबर तक ना तो कोई नया निवेश करें और ना ही किसी से ऋण ले। परिवार में मंगलकारी कार्य हो सकता है। परिवार के साथ यात्रा भी हो सकती है परंतु आपके व्यवहार में कड़वाहट आने की संभावना है जिसके कारण कुछ रिश्तो में दरार आ सकती है। स्वयं एवं जीवन साथी के स्वास्थ्य के लिए समय अच्छा नहीं है। ऑफिस में विरोधी सक्रिय हो जाएंगे। आप के खिलाफ साजिश हो सकती है। 

कन्या राशि पर कन्या के मंगल का फल

कन्या राशि के जातकों के लिए मंगल तीसरे और आठवें घर का स्वामी है और यह आपकी आत्मा, व्यक्तित्व के पहले भाव में गोचर करेगा। आपका व्यवहार उग्र हो जाएगा। मित्र एवं रिश्तेदारों के साथ संबंध खराब हो सकते हैं। कोई भी डिसीजन जल्दबाजी में ना लें। बिजनेस में कोई नया काम शुरू ना करें। जो चल रहा है उसे बढ़ाने पर फोकस करें। प्रतिद्वंदी परेशानी पैदा कर सकते हैं। यदि आप कड़ी मेहनत करते हैं तो किस्मत आपका साथ देगी। 
उपाय: तीन मुखी रुद्राक्ष पहनें।

तुला राशि पर कन्या के मंगल का फल

तुला राशि के जातकों के लिए, मंगल दूसरे और पहले घर का स्वामी है और आपके अध्यात्मवाद, आतिथ्य और हानि के द्वादश भाव में इस ग्रह का गोचर हो रहा है। अचानक खर्चा बढ़ सकता है। कर्मचारियों को साथी और सीनियर अधिकारियों का सपोर्ट नहीं मिलेगा। अपमान का सामना भी करना पड़ सकता है। बिजनेस टूर में विफलता मिल सकती है। परिवार एवं ऑफिस में बहस नहीं करेंगे तो उचित होगा। 22 सितंबर तक का समय किसी भी प्रकार से गुजारने की कोशिश कीजिए।
उपाय: मंगल स्तोत्र का पाठ करें।

वृश्चिक राशि पर कन्या के मंगल का फल

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए, मंगल पहले और छठे भाव का स्वामी है और यह आपके आय / लाभ और इच्छाओं के एकादश भाव में गोचर कर रहा है। मुनाफा होने की संभावना है। शेयर बाजार से भी अच्छा रिटर्न मिल सकता है। कर्मचारियों का प्रमोशन हो सकता है। व्यापारी इस महीने अपना टारगेट पूरा कर सकते हैं। यदि कोई बिजनेस दूर बनता है तो, सफलता की बहुत अधिक संभावना है। सम्मान बढ़ेगा।
उपाय: भगवान शिव की पूजा करें और उन्हें गेहूं अर्पित करें।

धनु राशि पर कन्या के मंगल का फल

धनु राशि वालों के लिए मंगल पांचवें और द्वादश भाव के स्वामी हैं और आपके करियर, प्रसिद्धि के दसवें घर में इनका गोचर हो रहा है। कर्मचारियों को इस महीने ज्यादा मेहनत करनी पड़ेगी। वर्क लोड बढ़ेगा और सफलता भी मिलेगी लेकिन संतोष नहीं मिलेगा। आपका विरोधी आपके खिलाफ साजिश कर सकता है। वैवाहिक जीवन में अच्छे संकेत नहीं मिल रहे। यदि पहले से तनाव चल रहा है तो तलाक हो सकता है। यदि आप नकारात्मक विचारों से जीत गए तो भाग्य इस महीने आपको अच्छी सफलता दिलाएगा।
उपाय: अपने भाई के साथ मधुर संबंध बनाए रखें और उन्हें उपहार दें।

मकर राशि पर कन्या के मंगल का फल

मकर राशि के जातकों के लिए, मंगल चौथे और ग्यारहवें घर का स्वामी है और यह आपके भाग्य, धर्म, उच्च शिक्षा और पिता के नवम भाव में गोचर करेगा। पैसों की परेशानी चल रही है तो इस महीने दूर हो जाएगी। पैसा कमाने के लिए मेहनत करनी पड़ेगी। खर्चा कम करें। दिखावा करने से बचें। कर्मचारियों के विरोधी उनकी छवि को नुकसान पहुंचा सकते हैं। सावधान रहें। व्यापार में पार्टनर से यदि कोई मतभेद चल रहा है तो इस महीने दूर हो जाएगा। क्रोध पर नियंत्रण कर लिया तो इस महीने मौके का फायदा उठा सकते हैं।
उपाय: हनुमान जी की आराधना करें।

कुंभ राशि पर कन्या के मंगल का फल

कुंभ राशि के जातकों के लिए, मंगल तीसरे और दसवें घर का स्वामी है और यह ग्रह अचानक लाभ / हानि और विरासत के आपके आठवें भाव में गोचर करेगा। स्वभाव थोड़ा चिड़चिड़ा हो जाएगा। डिसीजन नहीं ले पाएंगे। आम रास्तों पर सावधानीपूर्वक चलें। खिलाड़ियों के लिए समय खराब है। बेहतर होगा 22 सितंबर तक समय को गुजर जाने दे।
उपाय: मंगलवार को उपवास रखें।

मीन राशि पर कन्या के मंगल का फल

मीन राशि के जातकों के लिए मंगल दूसरे और नौवें घर का स्वामी है और यह आपके विवाह और साझेदारी के सातवें में गोचर करेगा। इस गोचर के कारण आपको गुस्सा आएगा और वही गुस्सा आपको नुकसान दिलाएगा। किसी की समीक्षा ना करें। जीवन साथी से अच्छा व्यवहार बनाए रखें। किसी भी स्थिति में बहस ना करें। लोगों से संबंध बनाने की कोशिश करें। हमेशा पॉजिटिव बने रहे। पैसों की कमी नहीं रहेगी लेकिन इस महीने कोई सेविंग भी नहीं होगी। 
उपाय: अच्छे फल प्राप्त करने के लिए मंगलवार को तांबे के बर्तन दान करें।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here