सावन के सोमवार का व्रत रखने से क्या फल मिलता है - SAWAN SOMVAR 2021

ज्योतिषाचार्य पंडित सतीश सोनी के अनुसार सावन के सोमवार के व्रत रखने से सुख शांति और समृद्धि बढ़ती है। साधू, सन्यासियों को सोमवार व्रत रखने से भगवत कृपा के साथ मोक्ष की प्राप्ति होती है। मनचाहा जीवन साथी पाने के लिए सावन के सोमवार को भगवान शिव की विशेष आराधना की प्राचीन परंपरा है। 

सावन 2021 की महत्वपूर्ण तिथियां

ज्योतिषाचार्य पंडित सतीश सोनी बताते हैं कि भगवान शिव का प्रिय महीना सावन इस बार 29 दिन का रहेगा। सावन में कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि और शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि का क्षय है, लेकिन कृष्ण पक्ष में छठ तिथि दो हो गई हैं। ऐसे में कृष्ण पक्ष तो पूरे 15 दिन का होगा, लेकिन शुक्ल पक्ष 14 दिन का ही रहेगा। सावन की शुरुआत 25 जुलाई रविवार श्रवण, धनिष्ठा नक्षत्र के द्विपुष्कर योग में होगी। सावन में चार सोमवार तथा दो प्रदोष व्रत विशेष रहेंगे। कल्कि जयंती, नाग पंचमी 13 अगस्त को मनाई जाएगी। सावन माह में 27 जुलाई को योग व 8 अगस्त को पित्र कार्य अमावस्या रहेगी।

श्रावण शब्द का अर्थ क्या होता है

श्रावण शब्द श्रवण से बना है। जिसका अर्थ है सुनना, अर्थात सुनकर धर्म को समझना। इस माह में सत्संग का विशेष महत्व है। इसी माह से पतझड़ से मुरझाई हुई प्रकृति पुनः जन्म लेती है। हिंदू धर्म में श्रावण मास को पवित्र और व्रत रखने वाला माह माना गया है। इसलिए इस पूरे माह में व्रतों का पालन करना चाहिए। संपूर्ण माह यदि कोई साधक व्रत नहीं रख सकता है, तो श्रावण माह के विशेष चार सोमवार का व्रत उन्हें अवश्य रखना चाहिए। 



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here