Loading...    
   


यदि मन्नत पूरी होने पर संकल्प पूरा ना करें तो क्या होगा - motivational articles in hindi

भारत के संविधान में तो इसके बारे में कुछ नहीं लिखा लेकिन शास्त्रों में ऐसे कई दंड विधानों का उल्लेख है, स्पष्ट रूप से समझाया गया है कि संकल्प को पूरा न करने पर किस प्रकार के दंड प्राप्त होते हैं। सरल शब्दों में कहें तो, भगवान झगड़ा करने नहीं आते लेकिन आपका माइंडसेट चेंज कर देते हैं और आप कुछ ऐसे डिसीजन करने लगते हैं जिससे आपके दोस्त भी आप से झगड़ा करने आ जाते हैं। आइए छोटी सी कहानी सुनाता हूं:- 

झूठ बोलने पर भगवान क्या सजा देते हैं, एक छोटी सी कहानी

आपमें से कुछ लोग समझ जाएंगे, एक बहुत बड़ा बिजनेसमैन कई देशों में बिजनेस करता था। इस के सिलसिले में अक्सर वो टूर पर रहता था। एक बार वह एक नए देश में बिजनेस के लिए गया तो उसने देखा उस देश का सबसे धनवान व्यक्ति विशेष प्रकार की पूजा पाठ कर रहा है। मार्केटिंग का सिद्धांत है, धंधे की बात सीधे नहीं करते। बिजनेसमैन ने बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए उस धनवान व्यक्ति से पूजा पाठ की बात शुरू की है और उसके द्वारा की जा रही पूजा के बारे में जानकारी ली। प्रभावित होकर संकल्प ले लिया कि यदि मेरी मन्नत पूरी हुई तो मैं भी इसी प्रकार की पूजा करूंगा। 

संकल्प की शक्ति के कारण ईश्वर की कृपा से उसे संतान की प्राप्ति हो गई। कई वर्ष बीते, उसने संतान का विवाह भी कर दिया परंतु संकल्प पूरा नहीं किया। हर बार एक नई तारीख निर्धारित कर लेता था। बार-बार ऐसा करने पर उसके साथ वह हुआ, जो नहीं होना चाहिए था। इस बार बिजनेसमैन फिर से एक नए देश में पहुंचा। यहां कुछ चोर सरकार के इंपोर्टेंट डाक्यूमेंट्स चुरा कर भाग रहे थे। पुलिस उनका पीछा कर रही थी। पुलिस से बचने के लिए चोरों ने मौका देखकर बिजनेसमैन की कार में वह फाइल रख दी और आसानी से फरार हो गए। फाइल में जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम लगा हुआ था। पुलिस आई और बिजनेसमैन को गिरफ्तार करके ले गई। (मोरल ऑफ द स्टोरी यह है कि यदि आप प्रॉमिस तोड़ते हैं तो फिर आपको ऐसी गलतियों की सजा मिलती है जो आपने कभी की ही नहीं थी।)

भगवान को कैसे पता चलता है, हम क्या सोच रहे हैं

हमेशा याद रखिए, भगवान और भक्त का रिश्ता अत्यंत ही निजी होता है। इसके बीच में कभी कोई नहीं आ सकता, लेकिन इसका तात्पर्य यह बिल्कुल नहीं है कि जैसे पापा से झूठ बोल देते हैं वैसे भगवान से भी बोला जा सकता है। तकनीकी रूप से एक बात समझ लीजिए, भगवान ने आपके ऊपर कोई ड्रोन कैमरा नहीं लगाया जो आपकी गतिविधियों को रिकॉर्ड करके उनके पास तक पहुंचाता हो। बल्कि उन्होंने आपके दिमाग में एक छोटा सा सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कर रखा है। आप जो कुछ भी सोच रहे होते हैं, जो कुछ भी कर रहे होते, उसकी एक कॉपी भगवान के सर्वर में auto save हो जाती है। उसी के आधार पर डिसीजन होते हैं। (motivational article in hindi for students in hindi, motivational stories in hindi for students and employees with moral,  motivational stories in hindi real life, )


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here