केंद्रीय विद्यालय के 2 छात्रों की एक्सीडेंट में मौत, 100 की स्पीड में EXAM देने जा रहे थे - GWALIOR NEWS

ग्वालियर।
 मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में  केंद्रीय विद्यालय के दो छात्रों की बाइक होटल रमाया के पास सोमवार सुबह अनियंत्रित होकर फुटपाथ से टकराई। इसके बाद दोनों छात्र उछलकर फुटपाथ के किनारे बने टायलेट की दीवार से टकराए। जिससे दोनों की मौके पर मौत हो गई।   

दोनों के मुंह और सिर टॉयलेट के टाइल्स में घुस गए

सोमवार सुबह सार्वजनिक शौचालय की जिस दीवार से छात्र बाइक समेत टकराए थे, उस दीवार पर गड़े छात्रों के मास्क दर्दनाक मौत की कहानी बयां कर रहे थे। हादसे के समय बाइक की स्पीड करीब 100 या उससे ज्यादा रही होगी। छात्र सार्वजनिक शौचालय की दीवार से इतनी तेजी से टकराए, उनके मुंह और सिर टाइल्स में घुस गए। चित्र इतना द्रवित करने वाला है कि हम फोटो प्रकाशित नहीं कर सकते। 

दोनों ही छात्र केंद्रीय विद्यालय में पढ़ने वाले हैं और सोमवार सुबह वे परीक्षा कक्षा 9वीं की परीक्षा देने आए थे। घटना के बाद मौके पर पुलिस पहुंची और दोनों के शवों को पीएम के लिए भेजा। छात्रों की पहचान थाटीपुर निवासी दिव्यांसु सोलंकी व गुढ़ागुढ़ी का नाका निवासी आशीर्वाद है। दोनों छात्रों के स्वजन मौके पर पहुंच गए थे।

घटनाक्रम के मुताबिक थाटीपुर निवासी दिव्यांसु सोलंकी केन्द्रीय विद्यालाय में कक्षा 9 का छात्र है और सोमवार को 8 बजकर 20 मिनट पर परीक्षा शुरू होने वाली थी। वह सात बजे घर से निकला था। लेकिन स्कूल जल्द आ गया था। उसके साथ गुढ़ागुढ़ी का नाका निवासी आशीर्वाद भी पढ़ता है। दोनों छात्र स्कूल जल्दी आ गए थे। बताया जाता है कि इसलिए वे बाइक से मेले की तरफ गए। जब वे लौटकर आ रहे थे तो रमाया होटल के पास मोड़ पर उनकी बाइक अनियंत्रित हो गई और फुटपाथ से टकराई। 

फुटपाथ से टकराने के बाद दोनों छात्र बाइक से उछले और टायलेट की दीवार से जा टकराए। जिससे दोनों के सिर में गंभीर चोट आई और दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। हालंाकि कुछ लोगों का कयास है कि किसी वाहन ने पीछे से टक्कर मारी है। लेकिन बाइक में कहीं भी वाहन की टक्कर के निशान नहीं है।

थाटीपुर निवासी दिव्यांसु रोजाना साइकिल से सात बजे स्कूल आता था। स्वजनों के मुताबिक सोमवार सुबह सात बजे दिव्यांसु साइकिल से ही स्कूल आया था। हालांकि मौके पर उसकी साइकिल नहीं मिली। दुर्घटना में मरा दिव्यांसु अपने घर का एकलौता चिराग था। घटना की सूचना जब स्वजनों के पास पहुंची तो वे रोते हुए मौके पर पहुंचे। उनका हाल बुरा था।



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here