Loading...    
   


यौन शोषण की शिकायत करने वाली महिला के पति को नौकरी से निकाला - SAGAR EMPLOYEE NEWS

सागर
। मध्य प्रदेश के सागर जिले की छावनी परिषद में सफाई कर्मचारी के तौर पर काम करने वाली एक महिला ने अकाउंटेंट और सफाई दरोगा पर आरोप लगाया है कि दोनों ने मिलकर उसके साथ छेड़छाड़ की। जब उसने इसकी शिकायत पुलिस थाने में की दो दोनों ने उसे प्रताड़ित करना शुरू कर दिया एवं उसके 7 सफाई कर्मचारी के तौर पर काम करने वाले पति को नौकरी से निकाल दिया। 

सागर पुलिस ने महिला कर्मचारी के यौन उत्पीड़न का मामला दर्ज नहीं किया

मानव अधिकार आयोग से की शिकायत में पीड़ित महिला ने बताया कि वह पिछले तीन वर्षों से छावनी परिषद में सफाई कर्मचारी के रूप में कार्य कर रही है। छावनी के लेखापाल संजय मिश्रा, सफाई दरोगा सोहित प्यासी और कर्मचारी दीपक तीनों ने उसके साथ करीब चार माह पहले छेड़छाड़ व गलत व्यवहार किया। वे तब से लगातार परेशान कर रहे हैं। महिला ने बताया कि संजय मिश्रा छेड़छाड़ कर कहता है कि तुम्हें हाजिरी लगाने और काम करने की जरूरत नहीं है। तुम्हें तुम्हारा वेतन मिलता रहेगा। महिला ने अपने पति को जब यह बात बताई तो कैंट थाने में शिकायत की गई, लेकिन वहां FIR नहीं लिखी गई।

कलेक्टर से सांसद तक शिकायत की, किसी ने कार्रवाई नहीं की

पीड़ित महिला ने बताया कि घटना के बाद इसकी शिकायत 5 नवम्बर को सांसद राजबहादुर सिंह से, 24 नवम्बर को छावनी परिषद् कार्यालय में, 11 जनवरी को पुलिस महानिदेशक से, 11 जनवरी को ही कलेक्टर दीपक सिंह से और इसी दौरान एसपी व सीएम से भी भोपाल निवास जाकर की गई। जब कहीं से कोई कार्रवाई नहीं हुई तो परेशान होकर 20 जनवरी को महिला ने इसकी शिकायत मानव अधिकार आयोग से की।

पति को नौकरी से निकाल दिया, जान से मारने की धमकी दे रहे हैं

मानव अधिकार आयोग से की गई शिकायत में पीड़ित महिला ने कहा कि मेरे पति भी मेरे साथ सफाई कर्मचारी के रूप में कार्य करते थे। मैंने छेड़छाड़ की शिकायत की तो मेरे पति को नौकरी से निकाल दिया गया और अब उन्हें जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं। 

शिकायत पर कार्रवाई नहीं हुई तो आत्महत्या कर लूंगी

महिला का कहना है कि यदि मेरे या पति के साथ किसी भी प्रकार की घटना घटती है तो इसकी जिम्मेदारी प्रशासन की होगी। यदि आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हुई तो मुझे आत्महत्या करने के लिए मजबूर होना पड़ेगा। एक दिन पहले ही महिला को सीएम कार्यालय भोपाल से एक पत्र मिला है। जिसमें स्पष्ट लिखा है कि यह पत्र एसपी को देना तो आपके मामले में कार्रवाई हो जाएगी। 

कैंट टीआई सबरजीत सिंह परिहार का कहना है कि कैंट यूनियन की ओर से भी महिला की शिकायत की गई है। इसके पति व अन्य लोगों को वहां से नौकरी से निकाल दिया गया है। दोनों तरफ के आवेदन की जांच की जा रही है। महिला ने एसपी ऑफिस शिकायत की थी तो जांच के लिए बुलाकर पूछताछ की है।

04 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here