Loading...    
   


GOLD और DIMOND की तिजोरी लेकर व्यापारी का नाबालिग बेटा फरार - GWALIOR NEWS

ग्वालियर।
मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर के व्यापारी का इकलौता बेटा संदिग्ध हालात में लापता हो गया। व्यापारी पुत्र उसके ही अलमारी में से तिजोरी लेकर गया है। तिजाेरी में 8 लाख रुपए नकद और 20 तोला सोना, डायमंड, चांदी के सिक्के और कागजात थे।   

घटना शुक्रवार शाम 5 बजे भदावर बिल्डिंग मटेरियल शताब्दीपुरम की है। व्यापारी ने 6 युवकों पर अपहरण का आरोप लगाया है। साथ ही, आशंका जताई है कि कहीं दौलत के चक्कर में बेटे की जान खतरे में न पड़ जाए। घर के सीसीटीवी कैमरे में छात्र तिजोरी ले जाते दिख रहा है। जिन पर संदेह है, वह भी घरों से गायब हैं। पुलिस लगातार छात्र की तलाश कर रही है।

महाराजपुरा थाना क्षेत्र के शताब्दीपुरम भदावर बिल्डिंग मटेरियल निवासी देवेन्द्र सिंह भदौरिया का बिल्डिंग मटेरियल, टाइल्स व सेनेट्री का कारोबार है। उनका इकलौता बेटा गौरव भदौरिया (17) 11वीं का छात्र है। शुक्रवार शाम 5 बजे देवेन्द्र जब घर के नीचे ऑफिस पहुंचे, तो वहां कर्मचारियों से बेटे के बारे में पूछा। उन्होंने बताया कि वह कुछ देर पहले आपके मोबाइल से किसी से बात कर रहा था। जब व्यापारी ने देखा, तो जिस नंबर पर चार से पांच बार बेटे ने बात की थी, वह पास ही रहने वाले धीरेन्द्र गुर्जर का था।

कुछ देर बाद जब व्यापारी घर पहुंचा, तो बेटा नहीं था। अंदर अलमारी खोली, तो उसमें अंदर रखी तिजोरी भी गायब थी। इसके बाद बेटे को तलाश किया, लेकिन वह नहीं मिला। उसके दोस्तों के घर पर भी तलाश किया, लेकिन पता नहीं चला। मामले की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस को व्यापारी ने बताया, तिजोरी में 8 लाख रुपए नकद, करीब 20 तोला सोने के जेवरात, डायमंड और एक किलो चांदी के सिक्के रखे थे। इसकी कीमत करीब 22 लाख रुपए होगी। इसके अलावा तिजोरी में कुछ घर के दस्तावेज भी हैं।

व्यापारी ने पुलिस को बताया कि उनके पड़ोसी धीरेन्द्र गुर्जर, उसके साथी नीरज गुर्जर, रोहित गुर्जर, विवेक गुर्जर, रनिया तोमर और सतीश पाल पर बेटे को बहला-फुसलाकर सामान समेत कहीं ले जाने की आशंका है। साथ ही, डर है कि यह लोग कहीं इस पैसे के लिए उसके साथ कुछ गलत न कर दें। पुलिस जब इन युवकों के यहां पहुंची, तो यह सभी लापता हैं। इसके बाद पुलिस की मुश्किल और बढ़ गई है।

जब पुलिस ने जांच शुरू की, तो पता किया कि छात्र कोई फोन लेकर गया है या नहीं। पता लगा है कि वह मोबाइल घर ही छोड़ गया है। जिन पर संदेह है, उसमें धीरेन्द्र का भी मोबाइल घर पर ही है, इसलिए पुलिस को करंट लोकेशन नहीं मिल पाई है। पुलिस अब उनके कुछ रिश्तेदारों को ट्रैक कर छात्र तक पहुंचने का प्रयास कर रही है।

CCTV में तिजोरी ले जाते दिखा

घटना के बाद जब पुलिस ने व्यापारी के घर में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखे, तो उसमें छात्र तिजोरी उठाकर बाहर निकलते दिख रहा है। अब पुलिस क्षेत्र में लगे सीसीटीवी खंगाल रही है, जिससे उसके जाने का रूट पता चल सके। पुलिस को पता लगा है, इससे पहले भी एक बार छात्र घर से इसी तरह पैसे लेकर जा चुका है। तब वह वापस आ गया था, तब अभी संदेही में से एक रनिया तोमर ने घर से लेकर गए रुपए भी लौटाए थे।

महाराजपुरा सीएसपी, रवि भदौरिया का कहना है कि व्यापारी का नाबालिग बेटा लापता हुआ है। अपहरण की आशंका जताई है। जिन पर संदेह जताया गया है, वह भी लापता हैं। सभी मुरैना के पहाड़ी गांव के रहने वाले हैं। पुलिस ग्वालियर और मुरैना के पहाड़ी गांव में लापता छात्र की तलाश कर रही है।

13 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार 



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here