Loading...    
   


GF के बेटे और BF ने पूर्व प्रेमी की हत्या की, मृतक ने GF के फोटो वायरल कर दिए थे - JABALPUR NEWS

जबलपुर।
 मध्य प्रदेश के जबलपुर शहर में संजीवनी नगर क्षेत्र में भूलन रेलवे ट्रैक के पास हुई राहुल कोरी (17) की धारदार हथियार से वार कर की गई हत्या का पुलिस ने 24 घंटे में खुलासा कर दिया। 

गुरुवार को एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा ने बताया कि राहुल ने रानीताल में रहने वाली एक विधवा महिला और एक युवक की आपत्तिजनक फोटो वायरल कर दी थी। इसी रंजिश को लेकर महिला के उक्त प्रेमी ने उसके 14 वर्षीय नाबालिग बेटे और तीन अन्य साथियों के साथ मिलकर राहुल की हत्या की थी। राहुल की लाश बुधवार दोपहर को पुलिस ने बरामद की थी।

शराब पिलाने के बाद हत्या

एसपी ने बताया कि हत्या से पहले आरोपियों ने राहुल को बियर पिलाई थी। इसके बाद चाकू से गले, छाती, पेट, कमर आदि में ताबड़तोड़ वार कर मार डाला था। मामले में संजीवनी नगर पुलिस ने रानीताल निवासी महिला के 14 वर्षीय नाबालिग बेटे, तिलहरी फेस-1 गोराबाजार निवासी अम्मू उर्फ आकाश साहू (19) और वहीं के सुनील ठाकुर (20) को गिरफ्तार किया है। मामले में मुख्य आरोपी देवताल गढ़ा निवासी हेमंत उर्फ शानू दुबे (20) और सेवक किराना घमापुर निवासी आदि उर्फ आदित्य कोरी फरार हैं।    

हत्या का कारण 

रानीताल निवासी 14 वर्षीय नाबालिग आरोपी की मां के घर बम्बादेवी बल्दीकोरी की दफाई निवासी राहुल कोरी (17) का काफी आना जाना था। पुलिस पूछताछ में सामने आया कि उसके महिला से संबंध थे। बाद में महिला का संबंध उसके ही ग्रुप से जुड़े हेमंत उर्फ शानू दुबे से हो गया। यह राहुल कोरी को नागवार गुजरा। उसने शानू और महिला की फोटो वायरल कर दी। इसे लेकर उसका शानू दुबे और महिला के नाबालिग बेटे से विवाद हुआ था। इसके बाद से राहुल का महिला के घर आना-जाना बंद हो गया था। शानू और महिला और उसके नाबालिग बेटे ने मिलकर राहुल को सबक सिखाने का फैसला किया। इसी कारण उसकी हत्या की साजिश रची गई।

महिला के नाबालिग बेटे और शानू ने राहुल से बातचीत शुरू की। उन लोगाें ने कार से पचमढ़ी घूमने का प्लान बनाया था। पहले उनकी मंशा पचमढ़ी ले जाने के बहाने रास्ते में हत्या करने की थी। भूलन का इलाका देखने के बाद आरोपियों ने वहीं हत्या की साजिश रची। राहुल को शाम को संजीवनी नगर बुलाया था। वह 10 बजे तक नहीं आया तो कॉल किए। तब राहुल ने बाइक न होने की बात कही। इसके बाद शानू ने नाबालिग और अम्मू को बाइक लेकर घमापुर चौक भेजा था।

एएसपी गोपाल खांडेल ने बताया कि राहुल के साथ आरोपियों ने संजीवनी नगर स्थित शराब की दुकान से बियर खरीदी। इसके बाद आरोपी राहुल को लेकर भूलन स्थित घटनास्थल पहुंचे। वहां बियर पी। इसके बाद राहुल पर शानू, सुनील व आदित्य ने चाकू और पंच से ताबड़तोड़ वार कर मार डाला। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए थे। पुलिस शराब दुकान की सीसीटीवी फुटेज जुटा रही है।

हत्या का खुलासा इस तरह हुआ 

मंगलवार रात 10.30 बजे राहुल कोरी को घमापुर चौक तक उसका दोस्त भानतलैया निवासी विशाल बेन छोड़ने गया था। उसने नाबालिग को देखा था। पहले वह भी राहुल के साथ नाबालिग के घर जाया करता था, लेकिन विवाद के बाद दूरी बना ली थी। रात में राहुल घर नहीं लौटा। बुधवार दोपहर में राहुल की मां सविता ने विशाल से उसके बारे में पूछा था। विशाल ने नाबालिग से पूछा तो उसने बताया कि राहुल को मदनमहल में छोड़ दिया था। दोपहर बाद दैनिक भास्कर की न्यूज लिंक में राहुल की मृत हालत की फोटो देखकर विशाल ने मेडिकल पहुंच कर शव की पहचान की थी। फिर राहुल के घरवालों को सूचना दी थी। विशाल के बयान के आधार पर पुलिस ने नाबालिग को हिरासत में लिया तो कड़ी खुलती चली गई।

12 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here