Loading...    
   


फसल बीमा का सर्वे ड्रोन से किया जाएगा, DGCA ने कृषि मंत्रालय को मंजूरी दी - NATIONAL NEWS

नई दिल्ली।
प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए फसल के नुकसान का सर्वे ड्रोन द्वारा किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि ड्रोन एक ऐसी मशीन है जो हवा में उड़ती है और फोटो एवं वीडियो रिकॉर्ड करने में सक्षम है। भारतीय सेना इसका उपयोग दुश्मन की जासूसी के लिए करती है। 

भारत के 100 जिलों में फसल बर्बाद हुई तो ड्रोन कैमरा रिकॉर्डिंग करने आएगा

भारत सरकार के कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया कि देश के करीब 100 जिलों में ड्रोन के माध्यम से फसलों के नुकसान का सर्वे किया जाएगा। इससे फायदा यह होगा कि किसानों को हुए नुकसान का आकलन तत्काल किया जा सकेगा और वीडियो रिकॉर्डिंग होने के कारण नुकसान के पुख्ता दस्तावेज होंगे। जिससे किसानों को उचित बीमा क्लेम मिल पाएगा। 

फसल का होता है नुकसान तो पटवारी की कलम के मोहताज रहते हैं किसान 

फिलहाल भारत में राजस्व विभाग के कर्मचारी व्यक्तिगत तौर पर खेतों में जाकर फसल के नुकसान का आकलन करते हैं। सर्वे करने के लिए जाकर पटवारी आता है। पटवारी जो कलम चला देता है, उसी के अनुसार बीमा क्लेम मिलता है। कुल मिलाकर सर्वे के लिए आने वाला पटवारी भारत के अन्नदाता का माई बाप हो जाता है।

04 फरवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here