Loading...    
   


CTET EXAM TIPS: फटाफट OMR SHEET कैसे भरें

31 जनवरी 2021 को आयोजित होने वाली केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट, सीटीईटी) जो कि ऑफलाइन मोड में आयोजित होती है। जहां वर्तमान समय में ऑनलाइन परीक्षाओं का अधिक चलन है। ऐसे में ऑफलाइन परीक्षा थोड़ी सी पुरानी या आउटडेटेड लगती है। इस परीक्षा के बारे में कई बार खबरें आईं कि यह ऑनलाइन हो सकती परंतु अभी भी यह ऑफलाइन मोड में ही आयोजित होगी।

CTET सर्टिफिकेट की वैलिडिटी कितनी होती है, कहां-कहां अप्लाई कर सकते हैं

यह एक पात्रता परीक्षा है जिसमें जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों को पास होने के लिए 90 अंक तथा ओबीसी,  एससी, एसटी के उम्मीदवारों को 75 अंक लाना अनिवार्य होता है और इस परीक्षा की वैलिडिटी 7 वर्ष होती है। यानी कि इस परीक्षा को पास करने के बाद आप 7 वर्ष तक Kvs /सैनिक स्कूल/ millitry school या अन्य CBSC द्वारा  संचालित स्कूलों में आवेदन करने की योग्यता रखते हैं। 

इस परीक्षा के एडमिट कार्ड सीटीईटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर 13 जनवरी 2021 से उपलब्ध हैं। एडमिट कार्ड पर दिए गए परीक्षा संबंधी सभी निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़े व उनका पालन करें। 

आज हम आपको यहां इस एग्जाम में उपयोग में आने वाली OMR शीट को भरने की कुछ टिप्स बताने जा रहे हैं। ओएमआर शीट की सभी फिल्लिंगस् को ध्यान पूर्वक भरें क्योंकि इस पर व्हाइटनर लगाना पूर्णता मना मना है। यह परीक्षा दो हिस्सों में आयोजित होगी। पेपर 1 st- 9:30 से 12:00 बजे तक और पेपर 2nd  2:00 से 4:30 तक।

आज हम आपको यहां पेपर फर्स्ट के लिए कुछ महत्वपूर्ण टिप्स देंगे जो कि पेपर फर्स्ट और सेकंड दोनों के लिए उपयोगी होगी परंतु कुछ टिप्स केवल पेपर फर्स्ट के लिए ही उपयोगी होंगी। 

तो अब आखिर के 3 दिनों में बहुत ज्यादा पढ़ाई का स्ट्रेस ना लेते हुए अब इस पर फोकस करें कि आपको एग्जाम में सबसे पहले तो टाइम पर पहुंचना है और एंट्री के लिए क्या-क्या जरूरी है और तीसरा आपको ओएमआर शीट भरने के लिए स्पीड का होना बहुत जरूरी है। तो एग्जाम में कब पहुंचना है और एंट्री के लिए क्या-क्या लेकर जाना है यह तो सब आप के एडमिट कार्ड में दिया हुआ है आज हम यहां आपको ओएमआर शीट को भरने के लिए क्या जरूरी टिप्स है उनके बारे में जानकारी देंगे। 

ओएमआर शीट कोई आम शीट नहीं है इसलिए इसे टच करने से पहले 10 बार सोच लें

इस शीट में किसी भी प्रकार की गलती नहीं होना चाहिए।
सभी फॉर्मेलिटीज जैसे - आपका नाम ,रोल नंबर, डेट ऑफ बर्थ  आदि इन सभी को बहुत ही ध्यान पूर्वक भरे। अगर इन्हें भरने में गलती हो जाती है तो कई बार ओएमआर शीट चेक ही नहीं होती।
इस शीट पर किसी भी प्रकार कि कोई अन्य निशान जैसे- ओम, जय माता दी, क्रॉस, 786 आदि नहीं लगाना है।
रोल नंबर को भरने के लिए कितने बॉक्स दिए गए हैं और आपका रोल नंबर कितने अंको का है और रोल नंबर को पीछे से भरें जिससे की गलती होने की संभावना कम होगी  और एग्जामिनर द्वारा दिए गए निर्देशों का भी पूरी तरह पालन करें।

अब बारी आती है पेपर को खोलने के बाद ओएमआर शीट को कैसे भरना है

1. इस पेपर का समय 2:30 घंटे है जो कि आपको लगेगा कि बहुत ज्यादा है परंतु जब आप एग्जाम देना शुरू करेंगे तो वह ढाई घंटा कहां चला जाएगा आपको बिल्कुल पता नहीं चलेगा। 
2 और कुछ ढाई घंटे में से भी 15 मिनट आपकी फॉर्मेलिटी पूरी करने में चला जाएगा इसलिए आप इसे 2 घंटे मान कर ही चलें।
3. पेपर में पूछे जाने वाले क्वेश्चन काफी लेन्दि होते हैं, एक बार पढ़ने पर आसानी से समझ में नहीं आते हैं। कम से कम 2 बार में ही यह पूरी तरह समझ में आप आते हैं।  जबकि एक क्वेश्चन को पढ़ने के लिए, समझने के लिए और साथ में ओएमआर शीट का गोला काला करने के लिए 45 सेकंड का ही समय होता है। 

4. तो अब कहीं ना कहीं से तो समय बचाना ही होगा।
5. पेपर फर्स्ट की बात करें तो इसमें 5 सेक्शन होंगे प्रत्येक सेक्शन में 30 प्रश्न होंगे।
6. यानी कि  30 × 5 =150 प्रश्न और  2: 30 hrs 
सुनने में आसान लगता है परंतु ढाई घंटा यानी डेढ़ सौ मिनट और क्वेश्चन भी डेढ़ सौ यानी एक क्वेश्चन के लिए सिर्फ एक मिनट जिसमें क्वेश्चन को पढ़ना ,समझना और ओएमआर शीट में गोला काला करना शामिल है और साथ ही इसी ढाई घंटे में से आपके  15 मिनट फिलिंग्स में चले जाएंगे जोकि जरूरी भी है।
7. मैथ्स के सेक्शन को सबसे लास्ट में सॉल्व कीजिए क्योंकि कई बार मैथ्स में ऐसे सवाल आ जाते हैं जो आपकी शान के खिलाफ होते हैं और मैं तो सॉल्व करके ही रहूंगा या रहूंगी और वो सॉल्व भी हो जाएगा। सही या गलत अभी पता नहीं पर आपके कम से कम 10 से 15 मिनट खराब कर देगा इसलिए maths को लास्ट में ही हाथ लगाएं।

8. अब बारी आती है लैंग्वेज सेक्शन की जिसमें कि लोग अक्सर गलतियां करते हैं और पूरे 60 नंबर का सेक्शन गड़बड़ हो जाता है।
9. आपके एडमिट कार्ड में क्लियर लिखा होता है की लैंग्वेज फर्स्ट कौन सी है और लैंग्वेज सेकंड कौन सी है।
10. परंतु पेपर में एक साथ हिंदी और इंग्लिश दिए जाने के कारण कंफ्यूजन क्रिएट होता है।
11. तो अगर आपने लैंग्वेज फर्स्ट में हिंदी choose की है तो आपको क्वेश्चन नंबर 91 से 120 तक हिंदी के क्वेश्चन सॉल्व करना है।
12. और यदि आपने लैंग्वेज सेकंड में इंग्लिश choose की है  क्वेश्चन नंबर वन 121 से 150 तक इंग्लिश के क्वेश्चन सॉल्व करना है।
* अगर इस कंडीशन से विपरीत कंडीशन है तो बस हिंदी की जगह इंग्लिश और इंग्लिश की जगह हिंदी सॉल्व करनी है।

ओएमआर शीट के लिए स्पीड कैसे बढ़ाएं 

तो अब बचे हुए 3 दिनों में ओएमआर शीट का प्रिंटआउट लेकर डेढ़ सौ गोले 45 मिनट में या और भी कम समय में भर कर देखें। अगर आपने सीडीपी यानी बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र को पढ़ा है तो आपको पता होगा कि यह हमारी मोटर स्किल्स का एक पार्ट है, जिसकी हम जितनी ज्यादा प्रैक्टिस करेंगे उतना ज्यादा प्रभावी रूप से हम उसे  उपयोग कर पाएंगे।

28 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here