Loading...    
   


खेल शिक्षकों की भर्ती के लिए बीपीएड संघ ने विधायक को ज्ञापन दिया

मंदसौर
। बी.पी.एड.संघ मध्यप्रदेश के द्वारा स्वामी विवेकानन्द जयन्ति 12 जनवरी युवा दिवस के अवसर पर मंदसौर विधानसभा के लोकप्रिय विधायक यशपालसिंह सिसोदिया से मुलाकात कर खेल शिक्षक की भर्ती मांग को लेकर अवगत कराते हुए ज्ञापन दिया गया। 

बीपीएड संघ के प्रदेश अध्यक्ष बंशीलाल राठौर ने बताया कि मध्यप्रदेश मे 2008 के बाद स्कूल शिक्षा विभाग मे खेल शिक्षकों की भर्ती नहीं हुई है और ना ही प्रशिक्षित डिग्री डिप्लोमाधारी को खेल शिक्षक पदो पर अतिथि के रूप मे नही रखा गया है। बी.पी.एड.संघ मध्यप्रदेश प्रदेश संयोजक राधेश्याम मारू  ने बताया की 2018 मध्यप्रदेश शासन के राज्यपत्र मे खेल शिक्षक भर्ती का उल्लेख होने के बाद भी खेल शिक्षक की भर्ती विज्ञप्ती आज दिनांक तक जारी नहीं की गई। बी.पी.एड.संघ मध्यप्रदेश द्वारा 20 जनवारी तक 320 सभी विधायको को निवेदन, चेतावनी पत्र सौप रहे है, मांगे नही मानने पर 30 जनवरी 2021 से भोपाल मे धरना प्रदर्शन आन्दौलन जैसा कदम उठाएंगें।

विश्व स्वास्थ सगठन ने भी आज कोरोना महामारी जैसी बीमारी से निजात पाने के लिए योग और व्यायाम को अनिवार्य माना जा रह है। शासन द्वारा खेल डिग्री डिप्लोमाधारी के साथ ही सरकारी स्कूल मे पढ़ने वाले मध्यवर्गीय परिवार के बच्चे के साथ भी ये सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। हजारों स्टूडेंट खेल की डिग्रीधारी आज बेरोजगार होकर मजदूरी कर रहे हैं बीपीएड संघ की मुख्य मांग है कि खेल शिक्षक की भर्ती विज्ञप्ती निकाली जाना चाहिए। खेल शिक्षक की भर्ती में मध्य प्रदेश की मूल निवासी को ही प्राथमिकता दी जाना अनिवार्य हो। मध्यप्रदेश के सभी शासकियए गैर शासकिय सभी विद्यालयो में खेल विषय अनिवार्य किया जावे। 

फिट इंण्डिया कार्यक्रम मे कंपनियों की जगह प्रशिक्षित खेल शिक्षको को वरीयता दी जावे। विधायक ट्राफी टुर्नामेंट बीपीएड संघ के खेल प्रशिक्षितो से करवाया जावे। उपरोक्त यह मांगो को लेकर पूरे प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्र के विधायको को संघ द्वारा ज्ञापन देने की शुरूआत युवादिवस के उपलक्ष्य मे की गई। 

अपनी मांगो को लेकर बी.पी.एड संघ म.प्र पुरे प्रदेश के प्रत्येक विधायसभा के विधायक को यह ज्ञापन दिया जा रहा है। बीपीएड संघ की मांगे नही मानने पर आगामी समय मे डिर्गी डिप्लामाधारी बेरोजगारो के लिए भोपाल में प्रदेश स्तरीय धरना प्रर्दशन कर भूख हड़ताल जैसा आंदोलन करेगा। ज्ञापन देते समय ओम सुर्यवंशी, अंकुर त्रिपाटी, निरज डामोर, पवन आदी मौजूद थे।

14 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे हैं समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here