Loading...    
   


BJP नेता के कहने पर पुलिस- व्यापारी को घर से उठा ले गई, थाने में टॉर्चर किया - GWALIOR NEWS

ग्वालियर
। पुलिस किस तरह से सत्ताधारी दल के नेताओं के कहने पर दूसरे लोगों को परेशान कर रही है। इसकी बानगी माधौगंज थाने में देखने को मिली। एक मकान की दलाली वसूलने के लिए भाजपा नेता के कहने पर माधौगंज टीआई ने पुलिसकर्मी को भेजकर न सिर्फ व्यापारी को घर से उठा लिया बल्कि किसी बॉलीवुड फिल्म की तरह थाने में टॉर्चर किया गया। सूचना मिलने पर व्यापारी के पड़ोसी कांग्रेस नेता थाने पर एकत्रित हो गए और घेराव कर दिया।

कांग्रेस नेताओं ने दलाल और उसकी मदद करने वाले टीआई पर कार्रवाई की मांग को लेकर रात तक माधौगंज थाने पर धरना दिया। आखिर में एडिशनल एसपी सतेंद्र सिंह तोमर ने टीआई विनय शर्मा को तीन दिन की छुट्टी पर भेजकर सीएसपी आत्माराम शर्मा को मामले की जांच सौंप दी।

जानकारी के मुताबिक माधौगंज टीआई ने पुलिसकर्मी भेजकर व्यापारी दीपक गुप्ता को उनके घर से थाने बुला लिया। थाने पर पहले से सोनू गोयल मौजूद था। सोनू मकान की दलाली को लेकर दीपक से विवाद करने लगा। दीपक के पिता लखनलाल भी कुछ देर बाद थाने पहुंचे।

इसके बाद दीपक के पड़ोसी कांग्रेस नेता मोनू सोलंकी और मोहित दुसेजा भी थाने पहुंच गए। थाने में टीआई विनय शर्मा के कक्ष में सोनू गोयल का लखनलाल और दीपक से विवाद हुआ। लखनलाल का आरोप है कि टीआई के सामने सोनू ने उनके बेटे से गालीगलौज की और दबाब बनाया।

घटना की सूचना मिलने पर शहर जिला कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. देवेंद्र शर्मा, विधायक सतीश सिकरवार और रश्मि पंवार शर्मा सहित अन्य कांग्रेस नेता भी थाने पर पहुंच गए। दूसरी ओर सोनू के साथ भाजपा नेता भी थाने पर आ गए। कांग्रेस नेताओं ने सोनू गोयल व टीआई के खिलाफ कार्रवाई को लेकर थाने के बाहर ही धरना देना शुरू कर दिया। बाद में एएसपी सतेंद्र सिंह तोमर व सीएसपी आत्माराम शर्मा भी माधौगंज थाने पहुंचे।

व्यापारी ने टीआई के साथ बातचीत की रिकॉर्डिंग भी पुलिस अधिकारियों को सौंपी

कांग्रेस नेताओं और व्यापारी लखनलाल गुप्ता ने देर रात धरना खत्म कर एएसपी सतेंद्र तोमर को आवेदन दिया। आवेदन में बताया गया कि माधौगंज टीआई विनय शर्मा ने लखनलाल और दीपक गुप्ता को फोन पर मकान दिखाने की दलाली के रुपए सोनू गोयल के पास पहुंचाने को कहा था, लेकिन वह जब टीआई की धमकी में नहीं आए तो उनके घर पर सादा कपड़ों में दो सिपाही भेजकर दीपक को थाने बुलाकर लॉकअप में बंद कर दिया।

जब लखनलाल अपने बेटे को छुड़ाने पहुंचे तो टीआई ने उनसे अभद्रता की और थाने के बाहर असामाजिक तत्वों को बुला लिया। बाद में सीएसपी के पहुंचने पर असामाजिक तत्वों को हटाया गया। लखनलाल गुप्ता ने टीआई से बातचीत की ऑडियो रिकॉर्डिंग भी पुलिस अफसरों को दी है।

दलाली के 70 हजार रुपए वसूलने के लिए दबाव बना रहा था सोनू

बताया गया है कि एक साल पहले दीपक गुप्ता के दर्जी ओली स्थित एक मकान को बिकवाने के लिए प्रॉपर्टी डीलर सोनू गोयल तीन अलग-अलग पार्टियों को लेकर पहुंचे थे, दीपक और उसके पिता लखनलाल ने मकान बेचने से इनकार कर दिया था। कुछ समय बाद जुलाई में दीपक ने उस मकान को बेचने का अनुबंध कर लिया और दिसंबर में मकान की रजिस्ट्री कर दी।

दीपक ने बताया कि मकान की रजिस्ट्री होने के कुछ दिन पहले सोनू का उनके पास फोन आया था। सोनू ने बेचे गए मकान की दलाली के तौर पर 70 हजार रुपयों की मांग की थी, लेकिन हमने दलाली देने से इनकार कर दिया था, क्योंकि हमने सोनू के साथ आए लोगों को मकान नहीं बेचा था। जबकि सोनू का कहना था कि जिस पार्टी ने मकान खरीदा है उसे वही लेकर आया था।

बाद में फोन पर दीपक ने सोनू से 15-20 हजार रुपए लेकर मामला खत्म करने को कहा, लेकिन वह 70 हजार रुपए की मांग पर अड़ा था। दीपक को धमकाने के लिए सोनू माधौगंज टीआई विनय शर्मा के पास पहुंचा। टीआई ने सोनू के कहने पर दीपक को घर से बुलवा लिया। 

एएसपी सतेंद्र तोमर का कहना है कि व्यापारी व कांग्रेस नेताओं के शिकायत पर सीएसपी आत्माराम शर्मा को जांच सौंपी गई है। टीआई विनय शर्मा को तीन दिन की छुट्टी पर भेजा गया है। जांच रिपोर्ट के बाद कार्रवाई की जाएगी।

06 जनवरी को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here