Loading...    
   


भोपाल से आसपास के लिए जनरल पैसेंजर ट्रेन चलाने की तैयारी - MP NEWS

भोपाल
। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से आसपास के इलाकों में अप डाउन करने के लिए अब मेल एवं एक्सप्रेस ट्रेन में कोई जगह नहीं मिलेगी लेकिन रेलवे ऐसे यात्रियों के लिए जनरल पैसेंजर ट्रेन चलाने जा रहा है। भोपाल मंडल में लगभग एक दर्जन ट्रेन शुरू करने की तैयारी है। यह आसपास के दो स्टेशनों के बीच चलेगी। इन ट्रेनों की शुरुआत कोरोना वैक्सीन के बाद कभी भी की जा सकती है। रेलवे ने अपनी तैयारियां पूरी कर ली है।

यात्रियों को संक्रमण से बचाने रिजर्वेशन सिस्टम लागू किया था

कोरोनावायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए भारत सरकार द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के बाद से सभी प्रकार की ट्रेन रिजर्वेशन के साथ चल रही है। जनरल टिकट वाली खिड़की बंद कर दी गई है। ट्रेन में जो जनरल क्लास के डिब्बे होते हैं उनमें भी रिजर्वेशन सिस्टम लागू कर दिया गया है। रेलवे का कहना है कि ऐसा इसलिए किया गया ताकि लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए रेलवे का सफर करें और रेल यात्रा किसी के लिए संक्रमण का कारण न बन पाए।

ट्रेन में स्टॉपेज के कारण यात्रा की अवधि बढ़ जाती है, 90% यात्री परेशान होते हैं

रेलवे बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मेल व एक्सप्रेस ट्रेनें आरक्षित होती हैं, लेकिन उसमें लगे जनरल कोचों की वजह से स्थानीय यात्री भी सफर करते हैं, उनके लिए ट्रेन को छोटे स्टेशनों पर रोकना पड़ता है। इस तरह उक्त ट्रेन में 500 से 1000 किलोमीटर का सफर करने वाले 90 फीसद यात्री परेशान होते हैं। उनकी शिकायत रहती है कि वे जल्दी अंतिम स्टेशन तक नहीं पहुंच पाते। यह सही भी है क्योंकि किसी भी ट्रेन को एक स्टेशन पर रोकने और फिर उसे आगे के लिए चलाने में स्टॉपेज समय के अलावा पांच से सात मिनट का समय लगता है। इस तरह प्रत्येक स्टेशनों पर रुकने की वजह से ट्रेन अधिक समय लेती है।

भोपाल मंडल- यहां दौड़ सकती हैं जनरल पैसेंजर ट्रेन 

इटारसी-बीना, इटारसी-कटनी, बीना-नागदा, बीना-गुना, इटारसी-भोपाल और भोपाल-इंदौर के बीच अनारक्षित ट्रेनें चलाई जा सकती हैं।

अभी 12 ट्रेनों में लगते हैं 48 जनरल कोच

भोपाल रेल मंडल से सामान्य दिनों में 12 ट्रेनें चलती हैं। एक ट्रेन में चार कोच के हिसाब से 48 जनरल कोच लगते हैं। हालांकि कोरोना के चलते अभी इन कोचों में सफर के लिए रिजर्वेशन कराना पड़ता है।

यात्रियों को फायदा
लोकल में सफर करने वाले यात्रियों को कम समय में अधिक ट्रेनें मिलेंगी। कम आय वालेे यात्रियों के लिए भी अधिक ट्रेनों का विकल्प होगा।

रेलवे को फायदा
जनरल कोचों की वजह से सभी ट्रेनों की गति प्रभावित नहीं होगी। लंबी दूरी की ट्रेनों की गति बढ़ाने में मदद मिलेगी।

अनारक्षित जनरल टिकट विंडो से और ऑनलाइन लें सकेंगे

अनारक्षित ट्रेनों के टिकट रेलवे काउंटर और ऑनलाइन दोनों माध्यमों से ले सकते हैं। यह सुविधा तभी चालू होगी जब अनारक्षित ट्रेनों को चलाने की तारीख तय होगी।

इनका कहना है
मंडल में अनारक्षित रेल टिकट पर यात्रा करने वाले यात्रियों और ट्रेनों में लगाए जा रहे जनरल कोचों को लेकर जानकारी मांगी गई थी, जो भेज दी है। अनारक्षित ट्रेनें चलाने की जो भी योजना बन रही होगी वह वरिष्ठ स्तर पर होगी। मंडल स्तर पर कुछ नहीं कह सकते हैं।
-विजय प्रकाश, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक, भोपाल

23 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here