Loading...    
   


कमलनाथ को बचाने सज्जन वर्मा ने इमरजेंसी मीटिंग बुलाई - INDORE NEWS

इंदौर
। उपचुनाव में शर्मनाक शिकस्त के बाद मध्य प्रदेश कांग्रेस पार्टी में कमलनाथ के खिलाफ शुरू हुई मुहिम का सामना करने और कमलनाथ को प्रदेश अध्यक्ष पद पर बनाए रखने के लिए पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने इंदौर में एक इमरजेंसी मीटिंग आयोजित की। मीटिंग इतनी गोपनीय थी कि सज्जन वर्मा ने उसके फोटो सोशल मीडिया पर भी अपलोड नहीं किए। इस मीटिंग में इंदौर के चुनिंदा नेताओं को आमंत्रित किया गया एवं नगर निगम चुनाव के लिए 15 सदस्य कमेटी का गठन कर दिया गया।

तुम कमलनाथ को नेता मान लो, हम तुम्हें टिकट वितरण का अधिकार देंगे

एक होटल में आयोजित बैठक की अगुवाई कमलनाथ के नजदीकी नेता एवं पूर्व मंत्री सज्जनसिंह वर्मा ने की। जिला अध्यक्ष सदाशिव यादव, शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के साथ विधायक संजय शुक्ला, विशाल पटेल, अश्विन जोशी, सत्यनारायण पटेल, राजेश चौकसे के साथ महिला कांग्रेस अध्यक्ष शशि यादव, युवा कांग्रेस अध्यक्ष अमन बजाज और एनएसयूआइ अध्यक्ष अमित पटेल मौजूद थे। सूत्रों का कहना है कि बैठक में तय किया गया कि नगर निगम चुनाव में टिकट वितरण के मामले में कमलनाथ हस्तक्षेप नहीं करेंगे परंतु प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए कमलनाथ को अपना समर्थन जारी रखना होगा।

प्रत्याशी लोकप्रिय होना चाहिए, चुनाव प्रचार का पैसा पार्टी देगी

बैठक में पार्षद पद के दावेदारों को लेकर कहा गया कि चयन के लिए हर वार्ड में दो प्रभारी बनाए जाएंगे। चेहरे युवा होंगे इसलिए NSUI और युवा कांग्रेस की भूमिका अहम रहेगी। बात उठी कि नए लड़के चुनाव लड़ सकते है बशर्ते पार्टी भी सहयोग करे। इस पर सज्जन वर्मा व अन्य नेताओं ने कहा कि चेहरा अगर चुनाव जीतने लायक रहा तो उसकी आर्थिक पृष्ठभूमि अहम नहीं है। पार्टी चुनाव के खर्च के लिए उसका सहयोग करेगी, इसलिए जोर दिया जाए कि नाम अच्छे चुने जाए। महापौर के उम्मीदवार के तौर पर नामों पर भी चर्चा हुई। इस पर संजय शुक्ला ने बैठक में सभी नेताओं से कहा कि पार्टी उन्हें मौका देगी तो वे चुनाव लड़ने के लिए तैयार हैं।

15 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here