Loading...    
   


BHOPAL में 50 लोगों का WhatsApp हैक, प्राइवेट फोटो/वीडियो चुराकर ब्लैकमेलिंग - MP NEWS

भोपाल। 
मध्य प्रदेश की राजधानी के 40 से ज्यादा लोगों का वॉट्सएप को हैक कर लिया गया है। लॉगइन करने से पहले वॉट्सएप की ओर से इंटरनेट यूजर नंबर पर भेजे गए ओटीपी एसएमएस को जालसाज अपना बताकर ये धोखाधड़ी कर रहे हैं। ये ओटीपी नंबर भेजते ही जालसाज उक्त व्यक्ति का वॉट्सएप एप्लीकेशन अपने फोन में लॉगइन कर रहे हैं। 
 
वॉट्सएप से बैकअप री-स्टोर कर डाटा के साथ छेड़छाड़ भी कर रहे हैं। ये गड़बड़ी सोमवार शाम करीब सात बजे से आठ बजे के बीच हुई। शहर के होटल कारोबारी रॉबिन दत्ता ने बताया कि उन्हें इस संबंध में शाम करीब सात बजे एक एसएमएस आया। एसएमएस जिस नंबर से भेजा गया, वह उनके करीबी दोस्त का ही था। इसमें लिखा था कि ‘मैंने गलती से आपको अपना ओटीपी भेज दिया है। आप क्या इसे मुझे वॉट्सएप कर सकते हैं।’ दोस्त के नंबर से आए एसएमएस को दत्ता ने बगैर उनसे बात किए उसी नंबर पर भेज दिया। इसके कुछ देर बाद ही उनका वॉट्सएप हैक हो गया।

जानकारों का कहना है कि इसके पीछे जामताड़ा मॉड्यूल ही काम कर रहा है। गिरोह ने लॉकडाउन के समय से ही ऐसा करना शुरू किया है। बेहद शालीन तरीके से बात कर ओटीपी हासिल करना फिर उनके डेटा का गलत इस्तेमाल करना इनका मकसद रहता है। यदि वॉट्सएप के बैकअप से उन्हें आपत्तिजनक कंटेंट मिलता है तो जालसाज फिरौती की रकम भी मांग सकते हैं। देश के कुछ हिस्सों में ऐसा पहले भी हो चुका है, लेकिन भोपाल में ऐसा पहली बार हुआ है।

इस तरह की हैकिंग के बाद आपको अपने वॉट्सएप पर चैट या अन्य कंटेंट दिखने बंद होते हैं। आप दोबारा इसी नंबर पर लॉगइन करेंगे तो एक नया ओटीपी आएगा। ओटीपी नंबर डालने के बाद वॉट्सएप दोबारा शुरू हो जाएगा और जालसाज के मोबाइल फोन का वॉट्सएप बंद हो जाएगा। हालांकि, कई बार ऐसा करने से 12-24 घंटे के लिए आपका वॉट्सएप बंद भी हो सकता है।

29 दिसम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here