Loading...    
   


कोरोना हेतु नियुक्त डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति बढ़ाई - MP EMPLOYEE NEWS

भोपाल।
मध्यप्रदेश में कोरोनावायरस के संक्रमण की रोकथाम एवं पीड़ित मरीजों की देखभाल के लिए नियुक्त किए गए अस्थाई कर्मचारियों, डॉक्टर एवं पैरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति दिनांक 30 नवंबर 2020 को समाप्त होने जा रही थी परंतु 25 नवंबर 2020 को जारी नवीन परिपत्र में सभी की नियुक्तियां 1 महीने के लिए बढ़ा दी गई है। 

छवि भारद्वाज, मिशन संचालक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन मध्यप्रदेश ने सभी जिलों के कलेक्टर एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को संबोधित करते हुए लिखा है कि जिला स्तर पर चिकित्सक /स्टॉफ नर्स/पैरामेडिकल स्टॉफ को अस्थायी रूप से दिनांक 01/11/2020 से दिनांक 30/11/2020 तक नियुक्त करने की अनुमति निर्धारित मापदण्डों एवं मासिक मानदेय पर प्रदान की गई थी। प्रशासकीय कार्य सुविधा की दृष्टि से कोविङ-19 महामारी की रोकथाम हेतु अस्थायी मानव संसाधन को दिनांक 01/12/2020 से 31/12/2020 तक निम्नानुसार उल्लेखित मापदण्डों के आधार पर निरन्तर रखने की अनुमति प्रदान की जाती है। विवरण निम्नानुसार है:

1. एमबीबीएस चिकित्सक/पीजीएमओ एवं आयुष चिकित्सक: दिनांक 01/11/2020 की स्थिति में कार्यरत एमबीबीएस चिकित्सकों/पीजीएमओ एवं आयुष चिकित्सकों को दिनांक 31/12/2020 तक अस्थायी रूप से निरन्तर रखने की अनुमति प्रदान की जाती है। 
2. लैब टेक्निशियन: जिलों में कार्यरत लैब टेक्निशयन में से वर्तमान में जिलों में संचालित फीवर क्लीनिक हेतु 01 लैब टेक्निशियन प्रति फीवर क्लीनिक (सेम्पलिंग) के मान से स्वीकृति प्रदान की जाती है। 
3. स्टॉफ नर्स: 1.डीसीएचसी अन्तर्गत संचालित कोविड आईसीयू में 01 स्टॉफ नर्स प्रति बेड के मान से। 2. जिला अस्पताल से अतिरिक्त संचालित फीवर क्लीनिक (सेम्पलिंग) हेतु 01 स्टॉफ नर्स प्रति क्लीनिक। 3. जिला अस्पताल में संचालित फीवर क्लीनिक (सेम्पलिंग) हेतु 02 स्टॉफ नर्स। 
4. फार्मासिस्ट: संभागीय मुख्यालय जिलें -सागर, उज्जैन, इन्दौर,ग्वालियर, जबलपुर, भोपाल एवं रीवा हेतु 02 फार्मासिस्ट प्रति जिला एवं शेष अन्य जिलों हेतु 01 फार्मासिस्ट के मान से।

5. डाटा एन्ट्री ऑपरेटर: जिला भोपाल, इन्दौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, सागर एवं रीवा हेत 10 डाटा एन्टी ऑपरेटर प्रति जिला एवं शेष अन्य जिलों में संचालित प्रति डीसीएचसी हेतु 02 डाटा एन्ट्री ऑपरेटर 
6. सपोर्ट स्टॉफ: जिलें संचालित प्रति 10 बेडेड कोविड आईसीयू हेतु 05 वार्ड बॉय एवं 05 सपोर्ट स्टॉफ तथा वर्तमान में संचालित प्रति 01 कोविड केयर सेन्टर में 06 सपोर्ट स्टॉफ। अतः कोविड-19 महामारी की रोकथाम हेतु अस्थायी मानव संसाधन को दिनांक 01/12/2020 से दिनांक 31/12/2020 तक अस्थायी रूप से रखने की अनुमति उल्लेखित कंडिका 1 से 6 तक के अनुसार प्रदान की जाती है। 

27 नवंबर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे हैं समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here