Loading...    
   


कोरोना अपने आप मर रहा है, सबको वैक्सीन की जरूरत नहीं है: चीफ साइंटिस्ट डॉ. यीडन ने कहा

CORONA UPDATE NEWS ROOM
- अमेरिका की दिग्‍गज फार्मास्यूटिकल कंपनी फाइजर (Pfizer) के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट व चीफ साइंटिस्ट डॉ. माइकल यीडन (Dr Michael Yeadon) ने कहा है कि दुनिया में किसी भी व्यक्ति को कोरोनावायरस की वैक्सीन की जरूरत नहीं है क्योंकि कोरोनावायरस कोविड-19 अपने आप मर रहा है। उल्लेखनीय है कि फाइजर (Pfizer) कंपनी ने कोविड-19 के लिए वैक्सीन बनाया है और इसे सबसे प्रभावशाली होने का दावा किया है।

महामारी को मिटाने वैक्‍सीन की आवश्‍यकता नहीं

एक अमेरिकी मैगजीन में छपी रिपोर्ट के मुताबिक डॉ. माइकल यीडन ने कहा है कि महामारी कोविड-19 के खात्‍मे के लिए किसी वैक्‍सीन की जरूरत नहीं है। उनके मुताबिक, ''महामारी को जड़ से मिटाने के लिए किसी वैक्‍सीन की आवश्‍यकता नहीं है। मैंने कभी भी वैक्‍सीन की मूर्खता वाली बातें नहीं सुनी है। जिन लोगों पर बीमारी का खतरा नहीं है आप उन्‍हें वैक्‍सीन नहीं दें। आप यह भी प्‍लानिंग न करें कि लाखों स्‍वस्‍थ लोगों को वैक्‍सीन दी जाए।" बता दें कि डॉ. माइकल यीडन ने 30 सालों से ज्यादा समय तक एलर्जी और सांस संबंधी बीमारियों पर शोध किया है।

सरकारी एजेंसी के कारण लोग 7 महीने से परेशान हैं

ब्रिटेन की सरकारी एजेंसी SAGE (Scientific Advisor Group for Emergencies) की आलोचना करते हुए डॉ. यीडन ने यह बयान दिया है। उन्होंने कहा, ''ब्रिटेन में पब्‍लिक लॉकडाउन को लागू करने और इसके तहत नियमों का निर्धारण करने के क्रम में SAGE की भूमिका अहम रही लेकिन SAGE द्वारा महामारी को लेकर प्रकट की गई पूर्वधारणाओं में मौलिक त्रुटियों के कारण देश में लोग पिछले सात महीनों से परेशान और बेचैन हैं।''

उन लोगों को वैक्सीन नहीं दे सकते जिनको कोरोना का खतरा ही नहीं है

उन्होंने Scientific Advisor Group for Emergencies की आलोचना करते हुए  कहा है, "आप उन लोगों को वैक्सीन नहीं दे सकते, जिन पर बीमारी का कोई खतरा नहीं है। वहीं आपने उस योजना के बारे में भी विस्तार से नहीं बताया है, जिसके तहत आप लाखों स्वस्थ लोगों काे ऐसी वैक्सीन लगाएंगे, जिसका मानव पर बड़े पैमाने पर परीक्षण नहीं किया गया है।"

28 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here