Loading...    
   


BHOPAL के मोबाइल आइसोलेशन बेड दिल्ली भेजे जा रहे हैं, रेलवे बोर्ड का फैसला - MP NEWS

भोपाल
। कोरोनावायरस संक्रमण के चलते लोगों को आइसोलेशन बेड उपलब्ध कराने के लिए भोपाल रेल मंडल ने 72 मोबाइल आइसोलेशन कोच तैयार किए थे। एक रेलवे कोच में औसत 7 आइसोलेशन बेड बनाए गए हैं। रेलवे बोर्ड के आदेश पर यह सभी कोच दिल्ली भेजे जा रहे हैं। पहले 20 कोच भेजे गए थे और अब शेष 52 कुछ भेजे जा रहे हैं।

रेलवे की आइसोलेशन कोच में सुविधाएं

मोबाइल आइसोलेशन कोच के अंदर बेड के अलावा ऑक्सीजन सिलिंडर रखने की भी जगह है। डाक्टर व नर्सिंग स्टाफ के लिए केबिन है। दवा स्टोर बॉक्स बनाए हैं। जिस सीट को बेड में बदला है, उसके आसपास की दूसरी सीटों का निकाल दिया गया है, ताकि मरीज, नर्सिंग स्टाफ व डाक्टरों को आने-जाने में असुविधा न हो। हरेक कोच में दो शौचालय हैं। 

कोरोनावायरस की तीसरी लहर भोपाल में भी 

देश की राजधानी दिल्ली में अचानक कोरोनावायरस के संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने लगी लेकिन ऐसे ही हालात भोपाल में भी है। गुरुवार को 1 दिन में 400 से अधिक पॉजिटिव पाए गए। हालात गंभीर हो गए हैं। ऐसी स्थिति में भोपाल को भी आइसोलेशन कोच की जरूरत है।

20 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here