Loading...    
   


पटाखों पर प्रतिबंध को लेकर शिवराज सिंह कंफ्यूज, बैक-टू-बैक 3 ट्वीट किए, अब पब्लिक कंफ्यूज - MP NEWS

भोपाल
। दिनांक 9 नवंबर 2020 दिन सोमवार को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने डिसीजन दिया है कि पिछले साल दीपावली के अवसर पर यानी नवंबर 2019 में जिन शहरों का वायु गुणवत्ता सूचकांक 201 से 300 के बीच था वहां पटाखें न जलाएं। यानी इस साल भारत के उन सभी शहरों में दीपावली के अवसर पर किसी भी प्रकार की आतिशबाजी पर प्रतिबंध रहेगा जहां पिछले साल एयर क्वालिटी इंडेक्स 201 से अधिकता।

NGT के आदेशानुसार मध्य प्रदेश के 7 शहरों में दीपावली की आतिशबाजी पर बैन होना चाहिए

NGT के इस आदेश के बाद दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने 9 नवंबर की रात 12 बजे से 30 नवंबर तक पटाखें जलाने पर रोक लगा दी गई है। मध्यप्रदेश में भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, कटनी, नीमच, सागर और सिंगरौली ऐसे शहर हैं जहां पिछले साल नवंबर 2019 में एयर क्वालिटी इंडेक्स 200 से अधिक था। यानी NGT क्या आदेश अनुसार इस साल मध्य प्रदेश के उपरोक्त सात शहरों में दीपावली के अवसर पर आतिशबाजी पर प्रतिबंध होना चाहिए।

मुख्यमंत्री कंफ्यूज क्यों है, उन्होंने ऐसा क्या किया 

राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण के आदेश के बाद जैसे ही मीडिया में खबरें वायरल से होना शुरू हुई कि मध्य प्रदेश के कुछ शहरों में दीपावली की आतिशबाजी पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है तो मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने तत्काल इसका खंडन करते हुए ट्वीट किया "मप्र खुशियों का प्रदेश है। यहां पर हम खुशियों पर कभी भी किसी तरह का प्रतिबंध नहीं लगाते। प्रदेश में पटाखों पर कोई प्रतिबंध नहीं है। हां, लेकिन चीनी पटाखे जरूर प्रतिबंधित हैं। आप भगवान राम के अयोध्या लौटने की खुशी मनाएं, पटाखे जलाएं एवं धूमधाम से दीपावली मनाएं।"

थोड़ी देर बाद मुख्यमंत्री ने दूसरा ट्वीट किया

हां, एक और जरूरी बात। पटाखे जलाते वक्त यह बात जरूर ध्यान रखिएगा कि किसी भी देवी-देवताओं की तस्वीर वाले पटाखे न जलाएं। ये भी पूर्णत: प्रतिबंधित हैं।

पहला ट्वीट NGT क्या आदेश की अवमानना था, इसलिए तीसरा ट्वीट किया

मेरे प्यारे भांजे-भांजियों, इसका मतलब यह बिल्कुल नहीं है कि हम पर्यावरण और कोविड महामारी का ध्यान न रखें। हम एनजीटी के समय सीमा एवं वायु गुणवत्ता सूचकांक वाले निर्धारित नियमों का भी पालन अवश्य करेंगे। सतर्कता में ही समझदारी है। 

अब सात शहरों के दुकानदार और जनता कंफ्यूज 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा दोनों तरह की बातें करने हैं और स्पष्ट डिसीजन नहीं लेने के कारण मध्य प्रदेश के सात शहर मध्यप्रदेश में भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, कटनी, नीमच, सागर और सिंगरौली के आतिशबाजी दुकानदार और जनता कंफ्यूज है। क्लियर नहीं हो पाया प्रतिबंध लगेगा या नहीं लगेगा। आतिशबाजी खरीदना है या नहीं।

10 नवम्बर को सबसे ज्यादा पढ़े जा रहे समाचार



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here