Loading...    
   


जबलपुर का भंडारी अस्पताल सील, SBI के कर्मचारी होम क्वारेंटाइन | JABALPUR NEWS

जबलपुर। 9 अप्रैल को करीब बारह दिन बाद कल एक व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने पर प्रशासन द्वारा उठाये जा रहे सभी कदमों की कलेक्टर भरत यादव ने विस्तार से जानकारी भी दी। इसके अलावा पॉजिटिव मिले व्यक्ति की ट्रेवल हिस्ट्री के साथ साथ लॉक डाउन के संबंध में विस्तार से बताया।

उन्होंने कहा कि कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आए लोगों समेत उनके भाई के घर को कंटेंटमेंट जोन बना दिया है। ए क से डेढ़ किलोमीटर के क्षेत्र को बफर जोन बना दिया गया है। केवल होम टू होम या ठेलों के माध्यम से आवश्यक वस्तुओं को पहुंचाया जाएगा। बैंक कर्मचारियों को भी होम क्वारेंटाइन कर दिया गया है, जहां इनकी पत्नी काम करती हैं। भंडारी अस्पताल को भी सील कर दिया गया है। इनके साथ फ्लाइट में आए लोगों की हिस्ट्री में खंगाली जा रही है। 18वें दिन पॉजिटिव आए व्यक्ति के सभी संपर्कों को खोजा जा रहा है। देश की स्थिति को देखते हुए सतर्कता बरती जा रही है। काम करने वालों को भी होम आइसोलेशन में रखा गया है। 

बुधवार को राजुल रेसीडेंसी निवासी इंडियन ऑयल के एक रिटायर्ड सेल्स ऑफिसर को कोरोना संक्रमित पाया गया। पॉजीटिव मिले 61 वर्षीय ओए गुहा 20 मार्च को हैदराबाद से शहर लौटे थे। उसके बाद से वे होम क्वारंटाइन थे। नेवी से रिटायर होने के बाद इंडियन ऑयल में जॉब कर रहा था। पिछले वर्ष वह सेवानिवृत्त हुआ है। उसकी पत्नी विजय नगर स्थित स्टेट बैंक की कर्मी है। पत्नी लगातार बैंक जा रही थी। संक्रमित की दो बेटियां हैं, जो विदेश में रहती हैं। बेटियों के सम्पर्क में आने की संभावनाओं पर जानकारी जुटाई जा रही है।

स्वास्थ्य विभाग की जांच में पता चला है कि संक्रमित को करीब डेढ़ माह से सर्दी-खांसी थी। उपचार के लिए वह गुडग़ावं, विजयवाड़ा जा चुका है। शहर आने पर वह 27 मार्च को वह भंडारी हॉस्पिटल में जांच कराने गया था। दवा लेने पर आराम नहीं मिला। बुखार व गले में तकलीफ होने पर वह दोबारा मंगलवार को अस्पताल गया। डॉक्टर ने एक्स-रे कराया। संदिग्ध लक्षण प्रतीत होने पर विक्टोरिया अस्पताल में जांच के लिए भेजा।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here