Loading...    
   


KAMALNATH की सरकार बचाने सोनिया गांधी ने पूरी ताकत झोंक दी | NATIONAL NEWS

नई दिल्ली। मध्यप्रदेश में कमलनाथ की सरकार बचाने के लिए कांग्रेस की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पूरी ताकत झोंक दी है। कांग्रेस के हर उस नेता को मध्य प्रदेश के राजनीतिक संकट का हल तलाशने के लिए तैनात कर दिया गया है जिसमें थोड़ी बहुत भी संभावनाएं थी। कहा तो यहां तक जा रहा है कि इसी के चलते डीके शिवकुमार को कर्नाटक का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। 

डीके शिवकुमार ने सिंधिया के 22 में से 10 विधायकों को लाने का वादा किया है 

इस खबर की पुष्टि नहीं हो पाई है लेकिन सुबह से चर्चा है कि सोनिया गांधी ने डीके शिवकुमार को मध्य प्रदेश का राजनीतिक संकट हल करने के लिए नियुक्त किया है। डीके शिवकुमार को उन सभी 22 विधायकों को टारगेट करने के लिए कहा गया है जो ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ इस्तीफा दे चुके हैं और इन दिनों बेंगलुरु में है। कहा जा रहा है कि डीके शिवकुमार रहे 22 में से 10 विधायक वापस लाने का वादा किया है। इसी क्रम में डीके शिवकुमार को आनन-फानन कर्नाटक का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया जबकि लोकसभा में गृह मंत्री अमित शाह, सोनिया गांधी पर हमला कर रहे थे। सोनिया गांधी को दिल्ली में हुए दंगों का दोषी बताया जा रहा था।

पार्टी सूत्रों के अनुसार, पूर्व केंद्रीय मंत्री मुकुल वासनिक, वरिष्ठ नेता हरीश रावत और मध्य प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी दीपक बाबरिया को पार्टी विधायकों के साथ बातचीत करने के लिए पर्यवेक्षकों के रूप में भोपाल भेजा गया। सूत्रों ने यह भी कहा कि इन नेताओं पर असंतुष्ट विधायकों और पार्टी के बीच मध्यस्थता करने तथा उनकी शिकायतों को सुलझाने का जिम्मा भी है।

इससे पहले, सोनिया गांधी ने कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल और वरिष्ठ नेता हरीश रावत के साथ बैठक की। पार्टी ने सज्जन सिंह वर्मा और गोविंद सिंह को बेंगलुरु में बैठे कुछ बागी विधायकों को अपने पक्ष में करने के लिए भेजा है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here