Loading...    
   


दोस्तों ने युवती का अपहरण कर दो दिन तक रेप किया | INDORE NEWS

इंदौर। बैंक गई 22 साल की एक युवती का बीजलपुर और निहालपुर मुंडी में रहने वाले दो दोस्तों ने किडनैप कर लिया। वे युवती को बाइक पर बिठाकर खुड़ैल के जंगल स्थित अपने खेत की झोपड़ी में ले गए। वहां धमकाकर दो दिन तक दोनों ने बारी-बारी से दुष्कर्म किया। जब आरोपी किसी काम से चले गए तो युवती जैसे-तैसे सड़क पर आई। लिफ्ट मांगकर घर पहुंची और परिजन को पूरी जानकारी दी। युवती की शिकायत पर पुलिस ने दोनों आरोपियोें को गिरफ्तार कर लिया है।

राजेंंद्र नगर टीआई सुनील शर्मा के अनुसार क्षेत्र की एक युवती की शिकायत पर नीम चौक बीजलपुर में रहने वाले 24 वर्षीय कपिल पिता विष्णु बावडीवाला और उसके दोस्त निहालपुरा मुंडी निवासी 26 वर्षीय कपिल पिता भागीरथ चौधरी को गिरफ्तार किया है। युवती और उसके परिजन ने पुलिस को बताया कि वह 2 मार्च को दोपहर 3 बजे बैंक जा रही थी। रास्ते में आरोपियों ने उसे रोका और बात करने लगे। क्योंकि वह उन्हें पहले से उस जानती थी, इसलिए वह भी सहज होकर बात करने लगी। बातों-बातों में युवकों ने मदद के बहाने उसे बाइक पर बिठा लिया। वे उसे खुड़ैल क्षेत्र स्थित पिपलौदा गांव में अपने एक खेत पर ले गए। यहां झोपड़ी में कैद किया और फिर कई बार दुष्कर्म किया। युवती का कहना है कि वह चिल्लाती रही, विरोध करती रही, लेकिन आरोपी नहीं माने। उससे जबरदस्ती करते रहे। 

युवती ने कहा कि वह पुलिस को रिपोर्ट कर देगी तो आरोपियों ने धमकाया कि यदि ऐसा किया तो किसी को भी नहीं छोड़ेगे, पूरे परिवार को खत्म कर देंगे। रातभर आरोपी भी खेत पर रहे। अगले दिन भी आरोपियों ने युवती के साथ दुष्कर्म किया। युवती का कहना है कि आरोपियों को लगा कि युवती किसी को कुछ नहीं कहेगी तो वे अपने काम से खेत से चले गए। तभी मौका देखकर युवती बाहर आई। उसने लिफ्ट मांगी और फिर एक बस वाले से मदद लेकर अपने घर तक पहुंची। 

उधर, घटना वाले दिन युवती के शाम तक घर नहीं लौटने पर परिजन थाने पहुंचे और उसकी गुमशुदगी दर्ज करवाई थी। पुलिस और परिजन उसकी तलाश में जुटे थे। अगले दिन युवती घर पहुंची और उससे पूरा घटाक्रम सुनकर परिजन चौंक गए। वे युवती को लेकर थाने पहुंचे। पुलिस ने रात को ही एफआईआर दर्ज करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। आरोपियों को लग रहा था कि युवती रिपोर्ट दर्ज ही नहीं करवाएगी, इसलिए वे बिना तनाव के घूम रहे थे। पुलिस ने उन्हें पकड़ा तो वे गुमराह करने लगे। जब पुलिस ने सख्ती की तो वे टूट गए और पूरी घटना कबूल ली। उधर, घटनाक्रम की गंभीरता को देखते हुए एसपी महेशचंद्र जैन, सीएसपी पुनीत गेहलोद भी बल के साथ घटनास्थल पहुंचे।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here