कार रेसिंग कर रहे रईसजादों के कारण गई नेशनल चैम्पियन की जान, 300 मीटर तक घिसटा मनीष | JABALPUR NEWS
       
        Loading...    
   

कार रेसिंग कर रहे रईसजादों के कारण गई नेशनल चैम्पियन की जान, 300 मीटर तक घिसटा मनीष | JABALPUR NEWS

जबलपुर। एक बार फिर कार रेसिंग युवक की मौत की वजह बनी। जबलपुर के आमानाला के पास बुधवार रात को घर लौट रहे बॉडी बिल्डर की बाइक को डुमना की ओर से आ रही तेज रफ्तार कार ने टक्कर मार दी। हादसे के बाद बॉडी बिल्डर का पैर कार में फंस गया और लगभग 300 मीटर तक वह घिसटता रहा। कार सवार घायल बॉडी बिल्डर को तड़पता छोड़ भाग गए। जिससे थोड़ी देर बाद उसकी मौत हो गई।

पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार गधेरी खमरिया निवासी मनीष यादव बॉडी बिल्डिंग में नेशनल चैम्पियन रह चुका है, जो बुधवार को रात 11 बजे के लगभग बाईक से अपने घर जाने के लिए निकला, जब वह आमनाला से डुमना रोड की ओर जा रहा था, इस दौरान सामने से आई कार ने मनीष को टक्कर मार दी। कार की टक्कर लगते ही मनीष बाईक सहित गिर गया और उसका पैर कार में फंस गया। मनीष के चिल्लाने पर भी चालक ने गति कम करने के बजाय और बढ़ा दी।

जिससे कार मनीष को घसीटते हुए काफी दूर तक ले गई, हादसे में मनीष के शरीर पर गंभीर चोटें आई, यहां तक कि उसका पैर ही शरीर से अलग गया। इस हृद्य विदारक हादसे में मनीष की मौके पर ही मौत हो गई। यहां तक कि चालक रुकने के बजाय मनीष को खून से लथपथ हालत में छोड़कर भाग निकला। राह चलते लोगों ने मनीष को खून से लथपथ हालत में देखा तो स्तब्ध रह गए, देखते ही देखते लोगों की भीड़ जमा हो गई।

मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर कार चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर तलाश शुरु कर दी है. हादसे के बारे में जिसने भी सुना वह स्तब्ध रह गया, यहां तक कि परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल रहा। गुस्साए लोगों ने डुमना रोड पर धरना देकर प्रदर्शन करना शुरु कर दिया, लोगों का कहना था कि इस रोड पर आए दिन इस तरह की दुर्घटनाएं होती है, रईसजादे मोटर साइकल व कार से रेसिंग लगाते हुए तेजी से वाहन दौड़ाते है, जिसकी चपेट में आकर कई लोगों की असमय ही मौत हो गई, इसके बाद भी हादसों को रोकने के लिए कोई कदम नहीं उठाए जा रहे है।

आज यहां तक जाम के हालात बने रहे। धरना व प्रदर्शन की खबर मिलते ही तीन थानों की पुलिस व अधिकारी मौके पर पहुंच गए, जिन्होने आक्रोशित लोगों से चर्चा कर उन्हे कार्यवाही करने का आश्वासन दिया। इस बीच कुछ लोगों का यह भी कहना था कि यह हादसा नहीं हत्या है, किसी ने जानबूझकर मनीष को अपनी कार से कुचलकर मारा है।