मध्य प्रदेश से सिंधिया युग खत्म करने की तैयारी, नया प्रदेश अध्यक्ष जल्द | MP NEWS
       
        Loading...    
   

मध्य प्रदेश से सिंधिया युग खत्म करने की तैयारी, नया प्रदेश अध्यक्ष जल्द | MP NEWS

Jyotiraditya Sindhiya, madhya Pradesh politics

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजनीति में ज्योतिरादित्य सिंधिया का दखल कम करने के लिए कई तरह के कदम उठाए जा रहे हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया प्रदेश अध्यक्ष पद के दावेदार थे, परंतु अब खबर आ रही है कि प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष का नाम फाइनल कर लिया गया है और यह नाम ज्योतिरादित्य सिंधिया नहीं है। मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह दोनों की तरफ से बयान आए हैं कि पीसीसी प्रेसिडेंट के पद पर नए नाम की घोषणा जल्द ही हो जाएगी। 

कमलनाथ ने शनिवार को ही कह दिया था: नया नाम जल्दी सामने आएगा

शनिवार रात मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ग्वालियर में कहा था कि मप्र कांग्रेस के नए अध्यक्ष का नाम जल्द ही पार्टी हाईकमान सोनिया गांधी तय करेंगी। प्रदेश में सत्ता और संगठन से जुड़े मसलों को लेकर सीएम ने कहा कि दोनों के बीच बेहतर समन्वय बनाने की दिशा में कारगर कदम उठाए जाएंगे। दिल्ली में समन्वय समिति की बैठक में इस पर चर्चा हुई है। बैठक में पंचायत और निकाय चुनावों की तैयारी को लेकर भी चर्चा हुई है। 

कमलनाथ ने 3 शब्द कहकर ज्योतिरादित्य सिंधिया को किनारे कर दिया 

कहा जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष पद पर नए नाम की जानकारी जैसे ही ज्योतिरादित्य सिंधिया को लगी वह नाराज हो गए। पहले उन्होंने दिल्ली चुनाव को लेकर बयान दिया और फिर टीकमगढ़ में वचन पत्र को लेकर कमलनाथ सरकार पर हमलावर हुए। समीक्षकों का कहना है कि इस तरह की बयानबाजी करके ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस हाईकमान और कमलनाथ पर दबाव बनाने की कोशिश कर रहे थे परंतु कमलनाथ ने 3 शब्द (तो उतर जाएं) कहकर सिंधिया को घोषित रूप से किनारे कर दिया है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कि दौड़ में कौन-कौन शामिल है

भोपाल में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष की ताजा दौड़ में कई नाम लिए जा रहे हैं। इसमें बाला बच्चन, सज्जन सिंह वर्मा, कांतिलाल भूरिया, बिसाहू लाल साहू, अजय सिंह, उमंग सिंघार, रामनिवास रावत, और जीतू पटवारी का नाम शामिल है। इनके अलावा मुख्यमंत्री कमलनाथ चाहते हैं कि झाबुआ के विधायक कांतिलाल भूरिया एक बार फिर प्रदेश अध्यक्ष का पद संभाले परंतु कांतिलाल भूरिया के समर्थक चाहते हैं कि उन्हें उपमुख्यमंत्री बनाया जाए।