Loading...    
   


भीम आर्मी का भारत बंद ग्वालियर में पूरी तरह बेअसर, बाजार खुले रहे | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। नागरिकता संशोधन कानून और प्रमोशन में आरक्षण को लेकर भीम आर्मी द्वारा रविवार को शहर बंद का आह्वान किया गया था, लेकिन इस बंद का प्रभाव शहर में नहीं देखा गया। सभी बाजार समय पर खुलें और लोग बिना किसी चिंता के भ्रमण करते देखे गए। गत दिवस भीम आर्मी के साथ एससी-एसटी और ओबीसी वर्ग के संगठन इस बंद का समर्थन कर रहे है उनके प्रमुख नेताओं को पुलिस-प्रशासनिक अफसरों ने पुलिस कंट्रोल रूम में बुलाया था और स्पष्ट निर्देश दिए कि अगर कोई भी प्रतिष्ठान, संस्थान जबरन बंद कराया तो सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसका असर रविवार सुबह से ही दिखाई दिया। इधर सराफा बाजार भी खुला रहा।

पूर्व में ग्वालियर बंद के चलते पब्लिक ट्रांसपोर्ट नहीं चलने की चर्चा चल रही थी,पर सुबह से ही पूरे शहर में वाहन सडक़ों पर दौड़ते दिखाई दिए। प्राइवेट ट्रांसपोर्ट मजदूर महासंघ अध्यक्ष नरेंद्र कुशवाह का कहना था कि जिन संगठनों ने बंद का आह्वान किया है उनको हमारा समर्थन नहीं है और सभी सवारी वाहन चलेंगे और ऐसा हुआ भी।  पुलिस ने डबरा, थाटीपुर के भीम नगर, साठ फुटा रोड़, नदीपार टाल रोड, अंबेडकर नगर सिमरिया गांव पर सबसे ज्यादा फोकस किया है। यहां सुरक्षा में 500 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं। वहीं पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की टीम पेट्रोलिंग भी कर रही है। 

जवानों को लाने ले जाने के लिए पुलिस लाइन से अतिरिक्त वाहन उपलब्ध कराए गए हैं जिससे जरूरत पढऩे पर जवानों और अफसरों को लाया ले जाया जा सके। हर थाने से थाना मोबाइल के अलावा दो अतिरिक्त मोबाइल निकाली गई थीं यह तीनों मोबाइलें अपने-अपने क्षेत्रों में पेट्रोलिंग करते हुए सुरक्षा व्यवस्था पर नजर रखे हुए थीं। साथ ही थानों में तैनात एफआरबी भी पेट्रोलिंग कर रही थीं।

बंद के दौरान हर स्थिति से निपटने के लिए प्रशासनिक और पुलिस अधिकारी मुस्तैद बने हुए थें। सर्किल के सीएसपी के साथ एसडीएम भी मुस्तैद नजर आ रहे थे और एडीएम शहरभर में भ्रमण करते हुए सुरक्षा व्यवस्था का फीडबैक ले रहे थे। बंद समर्थक कहीं से निकल न आएं इसे देखते हुए हर चौराहे पर पुलिस तैनात थी। कलेक्टर अनुराग चौधरी और पुलिस कप्तान नवनीत भसीन भी शहर भ्रमण कर रहे हैं।

बंद को देखते हुए रविवार सुबह से ही पुलिस के अफसर पेट्रोलिंग करते हुए शहरवासियों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील कर रहे थे। पुलिस अफसरों के साथ-साथ प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद थे। पुलिस अधिकारियों के कार्यालय में तैनात पुलिसकर्मियों को भी आज डयूटी पर लगाया गया था हर रोज भले ही यह दफ्तर सादा वर्दी में पहुंचते हों लेकिन आज वर्दी लगाकर चौराहों पर खड़े नजर आ रहे हैं। पुलिस कप्तान ने अपने कार्यालय, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कार्यालय, सर्किल के सीएसपी, डीएसपी, कार्यालय में तैनात सभी जवानों को ड्यूटी पर लगाया था।
सुबह सात बजे से ही पुलिस जवानों को उनके निर्धारित प्वाइंट पर तैनात कर दिया और हर स्थान पर इतने पुलिसकर्मी तैनात कर दिए, जिससे कहीं पर भी स्थिति ना बिगडऩे पाए। जवानों के साथ ही थाना प्रभारी को भी तैनात किया गया, जिससे हर स्थिति पर वे निर्णय लेकर प्रभावी कार्रवाई कर सके।

यह रही बल की स्थिति
शहर देहात के साथ ही करीब 1200 अतिरिक्त जवान तैनात किए गए थे, जो थाना बल के साथ तैनात किए गए थे। जिसमें लाइन से करीब पांच सैकड़ा बल के साथ ही एसएएफ की कंपनी लगाई गई है। दफ्तरों में तैनात जवान भी ड्यूटी दे रहे हैं। साथ ही सीसीटीवी कैमरों से नजर रखी जा रही है।


भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here