Loading...

ग्वालियर की सड़कों पर बारातों से लगे जाम, खुलवाने के लिए पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत | GWALIOR NEWS

ग्वालियर। सहालग के चलते बारातों के निकलने से कई जगह जाम की स्थिति बनी। पुलिस ने जाम खुलवाने के लिए रातभर मशक्कत की, लेकिन इसके बाद भी लोगों को राहत नहीं मिली, आलम यह था कि हाइवे से आने वाले भारी वाहनों को रोक दिया गया और शहर में देर रात तक लगे जाम को खुलवाने के लिए गश्त प्रभारी अच्छी खासी मशक्कत करते रहे।गेटों पर जिन बारातों का स्वागत समारोह हो रहा था उन्हें समझाइश दी कि वह मैरिज गार्डन के अंदर स्वागत सत्कार करें।

रविवार को सहालग होने के कारण देर रात तक बारातें निकलती रहीं और मैरिज गार्डनों के बाहर वाहन खड़े रहे, जिससे कई स्थानों पर जाम की स्थिति निर्मित हो गई अचलेश्वर रोड पर तो आलम यह था कि रात 2 बजे तक जाम लगा रहा और कई बारातें भी जाम में फंसी रहीं। जाम लगने के कारण सबसे ज्यादा परेशानी एम्बुलेंस में मरीज ले जाने वालों को उठानी पड़ी। अस्पताल समय पर मरीज को पहुंचाने के लिए एम्बुलेंस चालक हॉर्न देते रहे लेकिन इसके बाद भी उन्हें नहीं निकलने दिया जा रहा था। अचलेश्वर रोड के साथ-साथ जनकगंज, गुढ़ीगुढ़ा का नाका, लक्ष्मीगंज, मेला रोड, तानसेन रोड, बहोड़ापुर, नई सडक़ सहित कई जगह जाम लगा रहा। 

शहर में जाम की स्थिति निॢमत होते ही पुलिस नियंत्रण कक्ष ने सभी संबंधित थाना प्रभारियों से कहा कि जाम को खुलवाने के लिए अपने-अपने क्षेत्रों में पहुंचें, इस दौरान हाइवे पर तैनात डायल 100 वाहनों और पुलिसकर्मियों को आदेशित किया गया कि वह हाइवे से आने वाले भारी वाहनों को रोकें, जिसके चलते पुरानी छावनी, बेला की बावड़ी, विक्की फैक्ट्री, महाराजपुरा सहित सभी हाइवे पर वाहनों को रोक दिया गया।

सहालग के चलते जाम की स्थिति निॢमत न हो इसके लिए पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन ने सभी थाना प्रभारियों को आदेशित किया था कि वह अपने-अपने थाना क्षेत्रों में सतर्क बने रहें और किसी भी कीमत पर जाम नहीं लगना चाहिए। इस दौरान उन्होंने ट्रैफिक पुलिस के अधिकारियों को आदेशित किया था कि वह देर रात तक प्वाइंटों पर तैनात रहें और जाम मिलता है तो तुरंत खुलवाएं, जिसके चलते ट्रैफिक पुलिस के अधिकारी व कर्मचारी रात 12 बजे तक प्वाइंटों पर ही रहे।