आपके सभी वाहनों के लिए सिर्फ एक बीमा पालिसी, जितना गाड़ी चलेगी उतना ही प्रीमियम लगेगा | VEHICLE INSURANCE
       
        Loading...    
   

आपके सभी वाहनों के लिए सिर्फ एक बीमा पालिसी, जितना गाड़ी चलेगी उतना ही प्रीमियम लगेगा | VEHICLE INSURANCE

यदि आपके पास एक से अधिक वाहन हैं तो यह आपके लिए गुड न्यूज़ है। बीमा नियामक एवं विकास प्राधिकरण (IRDA) ने फ्लोटर मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी को मंजूरी दे दी है। जल्द ही व्हीकल इंश्योरेंस करने वाली कंपनियां नई इंश्योरेंस पॉलिसी का ऐलान कर देंगे। इसके तहत आप केवल एक बीमा पॉलिसी लेकर अपने सभी वाहनों को इंश्योर्ड कर सकते हैं। हर वाहन के लिए आपको अलग-अलग बीमा पॉलिसी नहीं लेनी पड़ेगी।

फ्लोटर मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी से पैसों की बचत होगी

नई पॉलिसी में कम प्रीमियम पर एकल पॉलिसी के मुकाबले अधिक कवर राशि मिलेगी। बीमा कंपनियां एप आधारित सेवा मुहैया कराने की योजना बना रही है। बीमा विशेषज्ञों का कहना है कि इससे समय के साथ पैसे की भी बचत होगी। नई पॉलिसी के प्रीमियम की गणना का काम जारी है।

जितनी गाड़ी चलेगी उतना ही बीमा प्रीमियम लगेगा

एडलवाइस जनरल इंश्योरेंस के सीईओ, शनाई घोष ने बताया कि यह पॉलिसी मौजूदा समय में वाहन मालिकों के लिए बेहतरीन उत्पाद हो सकता है, क्योंकि लोग कार पूलिंग को तवज्जो दे रहे हैं। नई पॉलिसी में प्रीमियम वाहन के चलाने के किलोमीटर के आधार पर तय होगा। यानी आप निश्चित समय में जितनी गाड़ी चलाएंगे, उसके हिसाब से ही प्रीमियम लगेगा।

फ्लोटर मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी इन कंपनियों द्वारा लांच की जाने वाली है

रिलायंस जनरल इंश्योरेंस, आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस और एडलवाइस जनरल इंश्योरेंस जल्द ही पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसे बाजार में पेश करने की तैयारी कर रही हैं।

एक फरवरी से पायलट प्रोजेक्ट: 

यह उत्पाद एक फरवरी से पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर लॉन्च होंगे। इसकी अवधि छह माह की होगी। इससे मिली प्रतिक्रिया के आधार पर इसकी व्यावसायिक शुरुआत होगी। 

कम प्रीमियम लगेगा

रिलायंस जनरल इंश्योरेंस के प्रवक्ता ने बताया कि एक बीमा से कम प्रीमियम में बड़ा कवर मिलेगा। अलग-अलग कागजी कार्रवाई नहीं करनी होगी। सामान्य मोटर बीमा में मिलने वाले लाभ जैसे नो क्लेम बोनस, 100% डैमेज कवर, एंट्री और एग्जिट की आजादी मिलेंगे। 

एप के जरिये दावा होगा

एडलवाइस जनरल इंश्योरेंस ने बताया कि नई फ्लोटर मोटर इंश्योरेंस पॉलिसी एप के जरिये संचालित होगी। बीमा धारक एप से नए वाहन जोड़ और हटा सकेंगे। वाहन दुर्घटना होने पर एप से दावा हो सकेगा। बीमा धारक से प्रीमियम उपयोगिता के आधार पर लिया जाएगा।