SBI: नए साल में खाताधारकों को BANK का पहला झटका
       
        Loading...    
   

SBI: नए साल में खाताधारकों को BANK का पहला झटका

भारत के सबसे बड़े पब्लिक सेक्टर के बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने अपने खाताधारकों को नए साल का पहला झटका दिया है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने फिक्स डिपॉजिट पर ब्याज दरें घटा दी है। बताना जरूरी है कि सबसे ज्यादा कर्मचारियों के बैंक खाते भारतीय स्टेट बैंक में ही है। एसबीआई सेविंग खातों पर पहले से ही बहुत कम ब्याज दे रहा है। कर्मचारी अपनी जमा पूंजी बैंक में फिक्स डिपॉजिट करते हैं। बैंक के इस फैसले से करोड़ों का नुकसान होगा। 

एसबीआई ने फिक्स्ड डिपोजिट (FIXED DEPOSIT) पर ब्याज दरें (INTEREST RATE) घटा दी है। ये नई दरें 10 जनवरी से लागू हो चुकी है। बैंक ने एक से 10 साल की एफडी पर दरें 15 बेसिस प्वाइंट तक घटाई है। वहीं, 7 दिन से लेकर एक साल तक एफडी पर इंटरेस्ट में कोई बदलाव नहीं किया है। इससे पहले बैंक ने एक साल से अधिक और दो साल से कम वाली एफडी पर ब्याज दरों में 15 बेसिस प्वाइंट की कटौती की थी।

SBI FD की नई ब्याज दरें दिनांक 10 जनवरी 2020 से लागू

7 से 45 दिन की एफडी पर ब्याज दर - 4.50 फीसदी
46 दिन से 179 दिन की एफडी पर ब्याज दर - 5.50 फीसदी
180 दिने से 1 साल से कम की एफडी पर ब्याज दर – 5.80 फीसदी
एक साल से 10 साल के एफडी पर ब्याज दर 6.25 फीसदी से घटाकर 6.10 फीसदी कर दिया है। एसबीआई बैंक ने इस एफडी पर ब्याज दरें घटाई है।
एक साल से 2 साल से कम, 2 साल और 3 साल से कम, 3 साल और 5 साल से कम, 5 से 10 साल की एफडी पर ब्याज दर 6.10 फीसदी है।