Loading...

ज्योतिरादित्य सिंधिया का PCC दौरा, कांग्रेस की राजनीति में खलबली | MP NEWS

भोपाल। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अड़ने और लंबी लड़ाई लड़ने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया एक बार फिर प्रदेश कांग्रेस कार्यालय आ रहे हैं। सिंधिया का भोपाल दौरा हमेशा सुर्खियों में रहता है। इस बार भी सुर्ख हो रहा है। प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में ज्योतिरादित्य सिंधिया पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे इसे लेकर कांग्रेस की राजनीति में खलबली मची हुई है। 

अगस्त 2019 के बाद 19 जनवरी को पीसीसी आ रहे हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया 

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया अगस्त 2019 में प्रदेश कांग्रेस कार्यालय आए थे। उन दिनों पीसीसी प्रेसिडेंट पद के लिए लॉबिंग कर रहे थे। 19 जनवरी 2020 को एक बार फिर वही कार्यक्रम तय किया गया है। इस बार वह क्या करेंगे, इसी के कयास लगाए जा रहे हैं। लोग जानना चाहते हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया का रुख क्या होगा। और राज्यसभा की खाली हो रही सीट के लिए लॉबिंग करेंगे या फिर प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए डटे रहेंगे।

इस बार भी होगी लंच पॉलिटिक्स 

ज्योतिरादित्य सिंधिया सुर्खियों में बने रहने का तरीका अच्छे से जानते हैं। पिछली बार स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट के घर लंच पॉलिटिक्स हुई थी। इस बार राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत का सरकारी आवास इसके लिए चुना गया है। ज्योतिरादित्य सिंधिया 18 जनवरी की शाम को भोपाल पहुंच जाएंगे और 19 जनवरी दोपहर गोविंद सिंह राजपूत के यहां लंच का आयोजन किया गया है। 

निगम-मंडलों के दावेदार शक्ति प्रदर्शन करेंगे 

ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस दौरे को निकट भविष्य में प्रस्तावित निगम मंडलों के अध्यक्षों की नियुक्ति से भी जोड़कर देखा जा रहा है। कमलनाथ कैबिनेट में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने समर्थकों को पर्याप्त सीटें दिला दी हैं। सिंधिया समर्थक चाहते हैं कि निगम मंडल अध्यक्षों की नियुक्ति में भी सिंधिया समर्थकों को आरक्षण मिले। सिंधिया के दौरे के दौरान निगम मंडल अध्यक्ष पद के दावेदार सिंधिया को लुभाने के लिए शक्ति प्रदर्शन कर सकते हैं।