Loading...

MPPSC 2019: भील के बाद 6 नए प्रश्नों पर विवाद

इंदौर। एमपी पीएससी द्वारा 12 जनवरी को कराई गई राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा-2019 की मॉडल आंसरशीट जारी होने के बाद अब पहले पर्चे के प्रश्नों पर भी असंतोष गहराने लगा है। बुधवार शाम जारी मॉडल आंसर शीट में प्रारंभिक परीक्षा के दूसरे पर्चे सामान्य अभिरुचि के पांच प्रश्नों को आयोग ने हटा दिया, लेकिन पहले पर्चे सामान्य अध्ययन से एक भी प्रश्न को नहीं हटाया। उम्मीदवारों ने इस पर्चे के छह सवालों पर आपत्ति लेते हुए इन्हें भी हटाने की मांग की है।

एक से ज्यादा सही जवाब

पहले पर्चे के जिन प्रश्नों पर प्रत्याशी आपत्तियां जता रहे हैं, उनके साथ दिए गए बहुविकल्प में या तो एक भी सही जवाब नहीं है या फिर एक से ज्यादा सही जवाब हैं। अब तक उम्मीदवार ऐसे कुल छह प्रश्नों पर आपत्तियां ले चुके हैं।

23 जनवरी तक दर्ज करा सकते हैं आपत्ति

आयोग ने आपत्तियां दर्ज करवाने के लिए 17 से 23 जनवरी तक का समय दिया है। इसके लिए प्रति प्रश्न 50 रुपए की दर से फीस चुकानी होगी। उम्मीदवारों का कहना है कि जो प्रश्न पहले से ही गलत प्रतीत हो रहे हैं उन्हें शुरू में ही क्यों नहीं हटाया जाता? ऐसे प्रश्नों पर आपत्ति के लिए भी उम्मीदवार अलग से फीस क्यों जमा करें?

प्रश्न हटाने का निर्णय विशेषज्ञों का: आयोग

आयोग का कहना है कि किसी भी प्रश्न को हटाने का निर्णय तय नियमों के अनुसार ही होता है। यह निर्णय आयोग नहीं, विषय विशेषज्ञ लेते हैं। न तो प्रश्न तय करने का काम आयोग या आयोग के अधिकारी करते हैं, न ही उन्हें हटाने का निर्णय। आपत्तियों पर फीस इसलिए वसूली जाती है, ताकि बेवजह आपत्तियां दर्ज कर प्रक्रिया बाधित न की जा सके।

इन छह प्रश्नों पर हैं आपत्तियां

1. तारीख-ए-फिरोजशाही के लेखक कौन हैं?
आपत्ति- विकल्पों में दो सही उत्तर दिए गए हैं। रचनाकार जियाउद्दीन बरनी है, बरनी की रचना जहां खत्म होती है, वहां से अफीक की रचना शुरू होती है। दोनों नाम संभावित विकल्प में दिए गए हैं।

2. मांडू के जहाज महल का निर्माण किस शासक ने करवाया था?
आपत्ति-जहाज महल का निर्माण शासक गयासुद्दीन खिलजी ने कराया था। प्रश्न के साथ दिए विकल्पों में यह नाम शामिल ही नहीं है।

3. कौन-सा राजमार्ग मप्र से नहीं गुजरता है?
आपत्ति- राजमार्गों के क्रमांक संशोधित किए जा चुके हैं। नए राजमार्गों के क्रमांक के आधार पर विकल्प में दिए चारों राजमार्ग मप्र से नहीं गुजरते। तकनीकी रूप से प्रश्न गलत है।

4. मानव अधिकार संरक्षण अधिनियम के संबंध में निम्न में से कौनसा कथन सही नहीं है?
आपत्ति-इस प्रश्न के चारों विकल्पों गलत हैं। इसमें सदस्यों व अध्यक्ष की नियुक्ति की अवधि पांच साल बताई गई है, जबकि नवीनतम संशोधन में यह तीन वर्ष या 70 वर्ष तक कर दी गई है।

5. निम्न में से कौनसा युग्म सुमेलित नहीं है?
आपत्ति- इस प्रश्न में जोड़ी मिलान के विकल्प दिए गए हैं। जनजाति व उपजातियों का उल्लेख इसमें है। इसमें दो विकल्प पटालिया व महार ऐसे हैं जो सुमेलित नहीं होते।

6. राज्य निर्वाचन आयोग नगरीय निकायों के निर्वाचन का संचालन किस अनुच्छेद के तहत करते हैं?
आपत्ति- संविधान के अनुच्छेद 243 जेडए में नगर पालिकाओं के निर्वाचन संबंधी प्रावधान दिए गए हैं। विकल्पों में इस अनुच्छेद का उल्लेख नहीं है।