फॉर्च्यूनर कार लूटने ड्राइवर की हत्याकर भागे, फास्टैग ने पकड़वाया | MP NEWS
       
        Loading...    
   

फॉर्च्यूनर कार लूटने ड्राइवर की हत्याकर भागे, फास्टैग ने पकड़वाया | MP NEWS

ग्वालियर। टीकमगढ़ के ओरछा में ड्राइवर की हत्या कर फॉर्च्यूनर कार लूटकर भाग रहे बदमाश ग्वालियर के पास टोल प्लाजा पर फास्टैग की मदद से पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस ने एक बदमाश को पकड़ लिया। जबकि दूसरा मौके से फरार हो गया। संभवत: देश का यह पहला मामला है जिसमें फास्टैग तकनीक की वजह से पुलिस ने हत्या और लूट के आरोपी को कुछ ही घंटे में गिरफ्तार कर लिया।     

रविवार रात ओरछा में दो बदमाश ड्राइवर की हत्या कर फॉर्च्यूनर कार लेकर फरार हो गए थे। बदमाश ओरछा से कार लेकर झांसी की तरफ भागे। यहां से ग्वालियर की ओर निकल गए। ग्वालियर में जैसे ही टोल प्लाजा से कार निकली तो गाड़ी में लगे फास्टैग से टोल प्लाजा का टैक्स कट गया। इसका मैसेज कार मालिक के मोबाइल पर आया। उन्होंने तुरंत घटना की जानकारी ओरछा पुलिस को दी। ओरछा पुलिस की सूचना पर ग्वालियर पुलिस ने कार का पीछा किया और मुरैना के पास कार को रोक लिया। पुलिस को देखते ही एक बदमाश फरार हो गया। 

ओरछा पुलिस के अनुसार, रविवार रात 8:30 बजे किला रोड पर खून से लहूलुहान शव पड़े होने की सूचना मिली। पास में ही धारदार हथियार पड़ा था। पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस को जानकारी मिली कि झांसी निवासी डॉ. डीएन मिश्रा के भाई विद्यानिधि मिश्रा अपने परिवार के साथ कार से ओरछा में रामराजा के दर्शन करने आए थे। सभी लोग मंदिर में दर्शन करने चले गए। चालक इंद्रमणि उर्फ खिलाड़ी तिवारी निवासी जोरपुर (उत्तरप्रदेश) ने फॉर्च्यूनर कार को किला रोड पर पार्क किया और इंतजार करने लगा। इसी दौरान रात के अंधेरे का फायदा उठाकर बदमाशों ने धारदार हथियार से इंद्रमणि तिवारी की हत्या कर दी और कार लेकर फरार गए।