Loading...    
   


कमलनाथ, मध्य प्रदेश को पश्चिम बंगाल बनाने पर तुले हुए हैं: शिवराज सिंह चौहान | MP NEWS

भोपाल। कैलाश विजयवर्गीय के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कमलनाथ सरकार की एंटी माफिया मुहिम का विरोध किया है। शिवराज सिंह का कहना है कि माफिया के खिलाफ कार्रवाई करो हमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन कमलनाथ, मध्य प्रदेश को पश्चिम बंगाल बनाने पर तुले हुए हैं। चुन-चुन कर भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। यह हम सहन नहीं करेंगे।

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ मध्य प्रदेश को बंगाल बनाने पर तुले हुए हैं। माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई हो हमें कोई आपत्ति नहीं है लेकिन माफियाओं के नाम पर जो हो रहा है वह सही नहीं है। शिवराज सिंह ने पूछा रेत माफियाओं पर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही।बाहर के ट्रांसपोर्टर मध्यप्रदेश में घुसने से कांप जाते हैं। खुलेआम वसूली हो रही है। परिवहन माफिया सक्रिय है। शराब माफिया सक्रिय है। सबसे बड़ा माफिया है ट्रांसफर माफिया। ट्रांसफर में खुलेआम पैसे लिए जा रहे हैं। एक आदमी के दो-दो ट्रांसफर हो जाते हैं। चारों तरफ खुलेआम लूट मची हुई है। 1 साल में पूरे प्रदेश का सत्यानाश कर दिया। 

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि अब चुन-चुन कर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता मध्य प्रदेश में निशाना बनाए जा रहे हैं। पूरे मध्यप्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को तोड़ दो। आतंकित कर दो। कांग्रेस में शामिल नहीं होंगे तो तोड़ने की धमकी दो। कमलनाथ जी, हम आपका यह खेल चलने नहीं देंगे। भारतीय जनता पार्टी अब सड़कों पर उतरेगी। 

जसपाल जज्जी जो कांग्रेस का विधायक है अशोकनगर के, उन्होंने झूठा जाति प्रमाण पत्र लगाया था चुनाव लड़ने के लिए। उनके खिलाफ जो प्रमाण एकत्रित कर रहा था उस कार्यकर्ता के खिलाफ झूठा आरोप लगाकर सिंगरौली में बंद करा दिया। केवल आतंकित करने का काम कर रहे हैं। मध्य प्रदेश की कभी यह संस्कृति नहीं रही। इसलिए भारतीय जनता पार्टी मैदान में उतरेगी। परसों में अपने क्षेत्र में आंदोलन करूंगा। उसके बाद अशोकनगर में आंदोलन करेंगे। हम आपातकाल में इंदिरा गांधी से नहीं डरे, यह कमलनाथ सरकार हमें क्या डरा पाएगी।



भोपाल समाचार: टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here
भोपाल समाचार: मोबाइल एप डाउनलोड करने के लिए कृपया यहां क्लिक करें Click Here